Move to Jagran APP

Covid New Variant BF.7: कोरोना के नए वेरिएंट ने की चीन की हालत खराब, भारत में भी हो चुकी है इसकी एंट्री

What Is Corona New Variant BF.7 चीन में कोरोना की नई लहर ओमिक्रोन के BF.7 वेरिएंट के चलते आई है। अब यह वेरिएंट भारत के गुजरात और ओडिशा में भी मिला है। आइए जानें आखिर क्या है BF.7 वेरिएंट और इसके लक्षण।

By Mahen KhannaEdited By: Thu, 22 Dec 2022 11:13 AM (IST)
What Is Corona New Variant BF.7- ओमिक्रान के BF.7 वेरिएंट के बारे में जानें।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। चीन में एक (Corona in China) बार फिर से कोरोना कहर बरपाने लगा है। लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों के चलते वहां के अस्पताल भी अब मरीजों से खचाखच भरने लगे हैं। वर्तमान में चीन में कोरोना की ये लहर ओमिक्रोन के BF.7 वेरिएंट के चलते आई है। चीन में कोरोना के नए विस्फोट के बीच यह वेरिएंट भारत भी पहुंच चुका है। गुजरात में दो तो ओडिशा में एक मरीज BF.7 वेरिएंट से पीड़ित मिला है। अब लोगों के मन में ये बात आ रही है कि आखिर ये BF7 वेरिएंट क्या है और ये इतना खरतनाक क्यों है। आइए जानें इसके बारे में और इसके लक्षण।

BF.7 के बारे में जानें

Corona के BF.7 वेरिएंट (Corona New Variant BF7) को कई देशों में काफी खतरनाक माना जाता है। बता दें कि कोई भी वायरस जब म्यूटेट होता है तो वे अपने वेरिएंट और सब-वेरिएंट बनाता है। इसी तरह SARS-CoV-2 वायरस कोरोना का मुख्य तना है और उसके अलग-अलग वेरिएंट और सब-वेरिएंट हैं। BF.7 भी इसी तरह ओमिक्रोन का सब-वेरिएंट है। सेल होस्ट एंड माइक्रोब जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार  BF.7 सब वेरिएंट में मुख्य वेरिएंट के मुकाबले 4.4 गुना ज्यादा न्यूट्रलाइजेशन रेजिस्टेंस है। इसके चलते लोगों के अंदर मौजूद एंटीबाडी BF.7 को नष्ट करने में बहुत कम सक्षम है।

भारत में ये वेरिएंट है सबसे ज्यादा खतरनाक

भारत में भी BF.7 वेरिएंट (Coronavirus in India) की एंट्री हो चुकी है, लेकिन यह ज्यादा खतरनाक नहीं है। जनवरी 2022 में भारत में कोरोना की लहर ओमिक्रोन के BA.1 और BA.2 सब-वेरिएंट से आई थी। वर्तमान में एक वेरिएंट XBB भारत में सबसे ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है और इसी के चलते भारत में नवंबर माह में 65.6 फीसदी मामले मिले थे।

ये हैं BF.7 के लक्षण

कोरोना के इस वेरिएंट का शिकार केवल कम इम्यूनिटी वाले लोग होते हैं। इसके मुख्य लक्षण बुखार, गले में खराश, खांसी, नाक बहना, कमजोरी और थकावट होती है। वहीं, कुछ लोगों को उल्टी-दस्त की शिकायतें भी आती दिखी हैं।