डिब्रूगढ़, एएनआइ। असम के डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय में छात्र से रैगिंग मामले में हास्टल के तीन वार्डन को निलंबित कर दिया गया है। विश्वविद्यालय के हास्टल में एमकाम प्रथम सेमेस्टर के छात्र आनंद शर्मा को बेरहमी से प्रताड़ित किया गया था, जिसके बाद उसने खुद को बचाने के लिए हास्टल की दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी थी। यह घटना 26 नवंबर की है। घायल छात्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत गंभीर है।

तीन वार्डन को किया गया निलंबित

डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय के कुलपति डा. जितेन हजारिका ने बताया, 'तीन वार्डन को निलंबित कर दिया गया है। हम तीन नए वार्डन नियुक्त करेंगे ।' इससे पहले पुलिस ने कहा था कि मामले में एक और आरोपित को गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान राजनीति विज्ञान के तीसरे सेमेस्टर के छात्र सुभ्रोज्योति बरुआ के रूप में हुई है। नेवार नाम के एक अन्य छात्र को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने पीडि़त के माता-पिता की शिकायत के आधार पर पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

जांच के दिए गए थे आदेश

इससे पहले डिब्रूगढ़ के उपायुक्त बिस्वजीत पेगू ने बताया था कि डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी रैगिंग के मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए हैं। इसके साथ ही असम के शिक्षा मंत्री रनोज पेगू ने भी घटना की निंदा की थी। उन्होंने डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय प्राधिकरण और पुलिस से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की अपील की थी।

21 छात्रों को पहले ही किया जा चुका है निष्कासित

वहीं, सोमवार को डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने एक छात्र की रैगिंग में कथित भूमिका के आरोप में 21 छात्रों को निष्कासित किया था। रिपोर्ट के अनुसार, छात्र ने रैगिंग के दौरान मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न से बचाने के लिए विश्वविद्यालय के हास्टल की दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी थी। जिसके बाद उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

ये भी पढ़ें: विदेशियों ने सालभर में 1.75 लाख करोड़ निकाले, तो म्यूचुअल फंड्स ने 1.93 लाख करोड़ निवेश कर मजबूती दी

ये भी पढ़ें: Fact Check : FIFA World Cup 2022 में अजान की वजह से नहीं रोका गया मैच, वायरल वीडियो चार साल पुराना

Edited By: Devshanker Chovdhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट