नई दिल्ली (जेएनएन)। पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सैफुद्दीन सोज ने कश्मीर घाटी में मौजूदा हालातों के लिए पाकिस्तान की बजाय भारत को जिम्मेदार ठहराया है।  नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान सैफुद्दीन सोज ने ये बातें कही। 

इस कार्यक्रम में वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी भी पहुंचे थे और उन्होंने कश्मीर घाटी में हुई हिंसा तथा अशांति के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया।  सैफुद्दीन सोज ने राम जेठमलानी से असहमति जताते हुए कहा, 'मैं राम जेठमलानी से पूरी तरह असहमत हूं। कश्मीर की मौजूदा समस्या भारत की देन है न कि पाकिस्तान की।'

राम जेठमलानी और सोज का यह बयान भारत-पाक संबंधों को सुधारने के लिए नई दिल्ली में आयोजित 'इंप्रूविंग इंडो-पाक रिलेशंस' कार्यक्रम के दौरान आया है। सोज ने इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू और शेख अब्दुल्ला की बातचीत का भी हवाला दिया। इस कार्यक्रम में वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी, सोज, पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर, पीडीप सांसद मुजफ्फर बेग, पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी और पाक उच्चायुक्त अब्दुल बासित के अलावा अन्य कई नेता शामिल हुए थे। बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम में हंगाम भी हुआ था।

आपको बता दें कि सैफुद्दीन 1983 में बारामूला लोकसभा सीट से चुनाव जीते थे। उस समय वह फारुख अबदुल्ला की नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी में थे। वे 1997-98 में इंद्र कुमार गुजराल सरकार में पर्यावरण मंत्री रहे। 2003 में वह कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए और राज्यसभा भी पहुंचे। 2006 से 2009 तक वो मनमोहन सिंह की कैबिनेट में मंत्री रहे। 

 यह भी पढ़ें: पत्थर मारनेवाले को 'देशभक्त' कहने पर चीता की पत्नी ने की फारूख अब्दुल्ला की खिंचाई

 यह भी पढ़ें: टूरिज्म नहीं, कश्मीर मसले के लिए पत्थर उठा रहे नौजवान

Posted By: Kishor Joshi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप