नई दिल्ली। देश में तेज विकास के लिए सीमाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करना भी अहम है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान की ओर इशारा करते हुए साफ कर दिया कि यदि कोई सीमा का उल्लंघन करने की कोशिश करेगा तो उसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

बीएसएफ की स्वर्ण जयंती पर आयोजित संगोष्ठी में राजनाथ ने कहा कि भारत किसी को भी युद्ध के लिए नहीं उकसाएगा, लेकिन अगर कोई हमला करता है तो भारत पीछे भी नहीं हटेगा। देश के विकास के लिए सीमाओं की सुरक्षा की जरूरत बताते हुए कहा कि बीएसएफ यह काम पूरी मुस्तैदी से निभा रहा है। बीएसएफ न केवल भूमि सीमा, बल्कि गुजरात और बांग्लादेश के साथ जल और तटीय सीमाओं की रक्षा में भी अद्भुत काम कर रहा है।

नदी और तटीय सीमाओं की सुरक्षा के लिए सरकार ने छह नई अस्थाई सीमा चौकियों को मंजूरी दी है। इनमें तीन सीमा चौकी बांग्लादेश की सीमा पर नदी के बीच और तीन गुजरात के पास समुद्री सीमा में बनाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि सरकार बीएसएफ की ताकत बढ़ाने को नवीनतम हथियार व अन्य उपकरण उपलब्ध कराएगी। वैसे राजनाथ सिंह ने यह भी साफ कर दिया कि भारत की ओर सीमा पर लेकिन किसी यदि ऐसा किया तो जबाव देने में कभी पीछे भी नहीं हटेगा।

पढ़ें: केंद्र सरकार किसी के साथ भी मिलकर किसानों को मदद को तैयार : राजनाथ

बिहार में लगी होर्डिंग, राजनाथ को बताया भाजपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष

Edited By: Kamal Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट