Move to Jagran APP

Defence Conference: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने किया तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रक्षा सम्मेलन का उद्घाटन

International Conference On Defence देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज यानी बुधवार को नई दिल्‍ली में रक्षा वित्‍त और अर्थशास्‍त्र पर तीन दिवसीय अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन का उदघाटन किया।नई दिल्ली में आयोजित इस सम्मेलन में अमेरिका ब्रिटेन जापान आस्‍ट्रेलिया श्रीलंका बांग्‍लादेश और केन्‍या के प्रतिनिधि शामिल हुए है।

By AgencyEdited By: Nidhi AvinashPublished: Wed, 12 Apr 2023 01:36 PM (IST)Updated: Wed, 12 Apr 2023 01:39 PM (IST)
Defence Conference: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने किया तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रक्षा सम्मेलन का उद्घाटन
Defence Conference: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने किया तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रक्षा सम्मेलन का उदघाटन

नई दिल्ली, एजेंसी। International Conference On Defence: देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज यानी बुधवार को नई दिल्‍ली में रक्षा वित्‍त और अर्थशास्‍त्र पर तीन दिवसीय अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन का उद्घाटन किया।

loksabha election banner

इस दौरान उन्होंने कहा कि रक्षा पूंजी और राजस्व खरीद की एक निष्पक्ष, पारदर्शी और ईमानदार प्रणाली के लिए, हमारे पास व्यापक ब्लू बुक्स होनी चाहिए। इससे रक्षा उपकरणों और प्रणाली की खरीद के नियमों और प्रक्रियाओं को संहिताबद्ध किया जा सकेगा। राजनाथ सिंह ने आगे कहा, 'मुझे बताया गया है कि ऐसे अध्ययन हैं कि रक्षा वित्त की एक मजबूत प्रणाली द्वारा रक्षा व्यय में भ्रष्टाचार और बर्बादी को बहुत कम कर दिया गया है।'

सम्मेलन में ले रहे ये देश भाग

बता दें कि इस सम्मेलन के जरिए नीति निर्माताओं, शिक्षाविदों और सरकारी अधिकारियों को रक्षा वित्‍त और अर्थशास्‍त्र पर अपने विचार और अनुभव साझा करने का अवसर मिलेगा। साथ ही रक्षा क्षेत्र में स्वदेशीकरण और आत्मनिर्भरता के सरकार के प्रयासों को बढ़ावा मिलेगा।

नई दिल्ली में आयोजित इस सम्मेलन में अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, आस्‍ट्रेलिया, श्रीलंका, बांग्‍लादेश और केन्‍या के प्रतिनिधि शामिल हुए है। बता दें कि इस सम्मेलन से रक्षा क्षेत्र में स्वदेशीकरण और आत्मनिर्भरता के सरकार के प्रयासों को बढ़ावा मिलेगा।

भारतीय सेना हुई मजबूत

बीते 5 सालों में भारतीय सेना काफी मजबूत हुई है। दुशमन को करारा जवाब देने के लिए सेना को भारत सरकार ने रक्षा उत्पादों का भारी जखीरा देने का काम किया है। इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि भारत ने पिछले पांच वर्षों में अमेरिका, रूस, फ्रांस, इजरायल और स्पेन जैसे देशों से 1.9 लाख करोड़ रुपये के सैन्य (India Defence Import) सामान खरीदे हैं।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.