नई दिल्ली। हरियाणा में हिंसक होते जांट आंदोलन के मद्देनजर गृहमंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर एक अहम बैठक चल रही है। इस बैठक में किरण रिजिजू समेत, चौधरी विरेंद्र सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर भी शामिल हें। इसी मुद्दे पर कल भी बैठक हुई थी जिसके बाद राजनाथ सिंह ने राज्य में सभी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि हिंसा से किसी भी चीज का हल नहीं निकाला जा सकता है। इसके अलावा उन्होंने जवाबी कार्रवाई में पुलिस की गोली से मारे गए सभी लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि हिंसक प्रदर्शन के दौरान लोगों का मारा जाना बेहद दुखद घटना है। इस बैठक में पूरी स्थिति पर चर्चा की गई।

बैठक में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और गृह सचिव राजीव महऋषि भाग लिया। इस उच्चस्तरीय बैठक के दौरान जाट आंदोलन के विभिन्न पक्षों पर विचार किया और इससे उपजी गंभीर स्थिति को किस तरह से सामान्य किया जाए, इस पर भी विचार किया गया। जाट आंदोलन: भिवानी में सेना का फ्लैग मार्च, कई जगहों पर कर्फ्यू

आंदोलनकारियों ने शुक्रवार को राज्य के वित्त मंत्री के घर पर भी हमला किया था। इसके अलावा उन्होंने कई निजी संपत्तियों को भी नुकसान पहुंचाया। पुलिस के आला अधिकारी के मुताबिक पुलिस पर हुए हमले के जवाब में हुई कार्रवाई में एक व्यक्ति की मौत हो गई। अब तक राज्य में तीन लोगों की मौत पुलिस या सेना की गोली लगने से हो चुकी है।

पढ़ें: आरक्षण की आग में झुलसा हरियाणा, 8 जिलों में सेना तैनात, गृहमंत्री ने की समीक्षा

जाट आंदोलन का छठा दिन: बेकाबू हुआ जाट आंदोलन, पुलिस की फायरिंग में तीन की मौत

Edited By: Kamal Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट