Move to Jagran APP

'लगातार झूठ बोल रहे राहुल गांधी', बेरोजगारी और महंगाई को लेकर BJP ने किया विपक्ष के झूठ का पर्दाफाश

भाजपा ने राहुल गांधी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है। भाजपा का कहना है कि राहुल गांधी महंगाई और बेरोजगारी को लेकर जो दावे कर रहे हैं वो सारे झूठे दावे हैं।भाजपा प्रवक्ता सैयद जफर इस्लाम ने रोजगार सृजन और महंगाई दर के आंकड़े रखेते हुए राहुल गांधी पर हमला बोला। भाजपा प्रवक्ता के अनुसार RBI की रिपोर्ट राहुल गांधी के झूठ के पर्दाफाश करने के लिए काफी है।

By Jagran News Edited By: Babli Kumari Thu, 11 Jul 2024 08:06 PM (IST)
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ( फाइल फोटो )

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। महंगाई और बेरोजगारी को लेकर राहुल गांधी के दावे को भाजपा ने सिरे से खारिज कर दिया है। भाजपा प्रवक्ता सैयद जफर इस्लाम ने नेता प्रतिपक्ष पर इन मुद्दों को लेकर लगातार झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए मोदी सरकार के दौरान रोजगार सृजन और महंगाई दर के आंकड़े रखे।

राहुल गांधी ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान में स्नातकों के कम वेतन मिलने के रिपोर्ट का हवाला देते हुए बेरोजगारी के कारण युवाओं की परेशानी के लिए मोदी सरकार की नीतियों की जिम्मेदार ठहराया था।

2023-24 में लगभग पांच करोड़ युवाओं को रोजगार

भाजपा प्रवक्ता के अनुसार आरबीआइ की रिपोर्ट राहुल गांधी के झूठ के पर्दाफाश करने के लिए काफी है, जिसमें अकेले 2023-24 में लगभग पांच करोड़ युवाओं को रोजगार मिलने की बात कही गई है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के 10 सालों में 12.50 करोड़ युवाओं को रोजगार मिला है, जबकि कांग्रेस अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के 10 साल के कार्यकाल में सिर्फ 2.9 करोड़ रोजगार के अवसर सृजित किये गए थे। मोदी सरकार के दौरान औपचारिक क्षेत्र में बढ़े रोजगार के अवसरों की पुष्टि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के डाटा से भी होती है।

पूरी दुनिया में भारत का महंगाई का प्रबंधन सबसे बेहतर

वहीं महंगाई के मुद्दे पर राहुल गांधी को जवाब देते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि मोदी सरकार के दौरान पूरी दुनिया में भारत का महंगाई का प्रबंधन सबसे बेहतर है और इसे आर्थिक जगत से जुड़े दुनिया से सभी शीर्ष संस्थान और विशेषज्ञ स्वीकार करते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी महामारी और रूस-युद्ध के बावजूद भारत में पिछले 10 साल में औसत महंगाई की दर पांच फीसद के आसपास रही है।

मनमोहन सिंह के 10 साल के कार्यकाल में इतना रहा महंगाई दर

वहीं मनमोहन सिंह के 10 साल के कार्यकाल में औसत महंगाई की दर नौ फीसद से अधिक थी। उन्होंने कहा कि देश-विदेश के बड़े-बड़े बैंकों के अनुसार भारत में महंगाई की दर सबसे कम है और रोजगार के अवसर सृजित करने में पहले स्थान पर है।

यह भी पढ़ें- 'भाजपा ने तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव की हार से सबक नहीं सीखा', CM एम के स्टालिन ने केंद्र सरकार पर लगाए गंभीर आरोप