नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने एक बार फिर से पार्टी लाइन तोड़ते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर बयान देकर अपनी पार्टी के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, खुर्शीद ने बलूचिस्तान और पाकिस्तान अधिकृति कश्मीर (पीओके) पर पीएम मोदी की नई विदेश नीति को अनुभवहीन करार दिया है। खुर्शीद ने कहा, "यह एक अनाड़ी की विदेश नीति है।"

जबकि, दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के सांसद निशिकांत दूबे ने पीएम मोदी के इस रुख का समर्थन करते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि सरकार लोकसभा में एक बिल लाकर पीओके और गिलगिट बाल्टिस्तान को लोकसभा सीट घोषित करे।

पढ़ें- बलूचिस्तान के मुद्दे पर कांग्रेस का यू-टर्न, PM के भाषण का किया समर्थन


पाकिस्तान की तरफ से लगातार कश्मीर में दखल देने के बाद उसे मुंहतोड़ जवाब देने के लिए अपनी विदेश नीति में बड़ा बदलाव लाते हुए पीएम मोदी ने बलूच और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की जनता पर पाकिस्तानियों की तरफ से ढहाए जा रहे जुल्मों-सितम को जोरशोर से उठाने का फैसला किया। मोदी की विदेश नीति में इस बदलाव का विपक्षी दल कांग्रेस ने भी समर्थन किया। लेकिन, कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने इससे पहले भी पार्टी के खिलाफ अलग लाईन अख्तियार किया।

पढ़ें- लालकिले पर पीएम मोदी का वो भाषण जिसने कर दिया बलूचियों को मुरीद

70वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी ने विस्फोटक भाषण देते हुए पीओके और बलूचिस्तान की जनता को उनके प्रति आभार जताने के लिए पीएम ने धन्यवाद किया था। जिसके बाद पूर्व विदेशमंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि पीओके और बलूचिस्तान को अलग नजरिए से देखना चाहिए।


सोमवार को दिए पीएम के भाषण के बाद खुर्शीद ने कहा कि बलूचिस्तान पाकिस्तान का आंतरिक मामला था। उन्होंने चेताया कि अगर इसी तरह बलूचिस्तान के मामले को सार्वजनिक तौर पर उठाया गया तो पीओके पार भारत का दावा और कमजोर पड़ जाएगा। हालांकि, कांग्रेस ने खुर्शीद के इस बयान से खुद को किनारा करते हुए इसे उनकी व्यैक्तिगत राय करार दिया। साथ ही, कांग्रेस ने इस बात पर जोर दिया कि बलूचिस्तान के लिए इंडिया को सब कुछ करना चाहिए।

पढ़ें- मोदी के बयान से उत्साहित बलूच नेताअों ने अब US-यूरोप से मांगा समर्थन

Posted By: Rajesh Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस