Move to Jagran APP

Modi 3.0 Oath Ceremony: शपथ ग्रहण समारोह में दिखेगी 'नेबरहुड फ‌र्स्ट' की झलक, शेख हसीना से लेकर प्रचंड तक… पढ़ें कौन-कौन होगा शामिल

नौ जून 2024 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तीसरे शपथ ग्रहण समारोह में एक बार फिर पड़ोसी देशों की सरकारों के प्रमुखों के उपस्थित होने की संभावना है। शेख हसीना और प्रचंड शुक्रवार (सात जून) को ही नई दिल्ली पहुंच रहे हैं। इसके अलावा मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू को भी आमंत्रित किए जाने की संभावना है। भूटान सेशेल्स और मॉरीशस के प्रधानमंत्रियों को भी आमंत्रण भेजा रहा है।

By Sonu Gupta Edited By: Sonu Gupta Fri, 07 Jun 2024 12:20 AM (IST)
Modi 3.0 Oath Ceremony: शपथ ग्रहण समारोह में दिखेगी 'नेबरहुड फ‌र्स्ट' की झलक, शेख हसीना से लेकर प्रचंड तक… पढ़ें कौन-कौन होगा शामिल
शपथ ग्रहण समारोह में दिखेगी 'नेबरहुड फ‌र्स्ट' की झलक। फाइल फोटो।

जयप्रकाश रंजन, नई दिल्ली। नौ जून, 2024 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तीसरे शपथ ग्रहण समारोह में एक बार फिर पड़ोसी देशों की सरकारों के प्रमुखों के उपस्थित होने की संभावना है। देर शाम तक मिली जानकारी के मुताबिक, बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना, नेपाल के पीएम पुष्प कमल दहल प्रचंड, श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने की पुष्टि कर दी है।

इस दिन पहुंचेंगे शेख हसीना और प्रचंड

शेख हसीना और प्रचंड शुक्रवार (सात जून) को ही नई दिल्ली पहुंच रहे हैं। इसके अलावा मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू को भी आमंत्रित किए जाने की संभावना है। भूटान, सेशेल्स और मॉरीशस के प्रधानमंत्रियों को भी आमंत्रण भेजा रहा है। इसके अलावा भी विदेश मंत्रालय की तरफ से कुछ और विदेशी मेहमानों को आमंत्रित किए जाने को लेकर देर शाम तक कोशिश हो रही थी।

2014 में नवाज शरीफ को भी किया गया था आमंत्रित

पीएम मोदी ने अपने पहले शपथ ग्रहण समारोह (मई, 2014) में दक्षेस संगठन के सभी सदस्य देशों के प्रमुखों को आमंत्रित किया था। उस समय पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ भी भारत आए थे। पीएम मोदी के दूसरे शपथ ग्रहण समारोह में भी कुछ पड़ोसी देशों के प्रमुखों को आमंत्रित किया गया था।

इन देशों के प्रमुखों को भी किया गया है आमंत्रित

चूंकि, इस बार चुनाव के नतीजे निकलने और सरकार बनाने की स्पष्टता आने के तीन दिनों बाद ही शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन हो रहा है, इसलिए ज्यादा विदेशी मेहमानों को आमंत्रित करने का समय नहीं है। ऐसे में पाकिस्तान व चीन के अलावा दूसरे अन्य पड़ोसी देशों व हिंद महासागर में स्थित दो करीबी पड़ोसी देशों मॉरीशस व सेशेल्स की सरकारों के प्रमुखों को ही आमंत्रित किया गया है।

मालदीव के राष्ट्रपति मुइज्जू भी आ सकते हैं भारत

यह पड़ोसी देशों के साथ रिश्तों को मजबूत बनाने की भारत की प्रतिबद्धता को दिखाता है। यह भी ध्यान रहे कि मालदीव के राष्ट्रपति मुइज्जू को चीन परस्त माना जाता है और उनकी कुछ नीतियां इस बात की गवाही भी देती हैं। इसके बावजूद भारत ने उन्हें आमंत्रित किया है।

कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने दी पीएम मोदी को बधाई

नेपाल के पीएम प्रचंड और बांग्लादेश की पीएम के कार्यालय की तरफ से बताया गया है कि वे सात जून, 2024 को नई दिल्ली पहुंच रहे हैं। शेख हसीना पीएम मोदी के पहले के दोनों शपथ ग्रहण समारोह में भी उपस्थित थीं। इस बीच पीएम मोदी को गुरुवार को भी बधाई संदेश आने का सिलसिला जारी रहा।

जेलेंस्की ने पीएम मोदी से फोन पर बात

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने एक दिन पहले पीएम मोदी को बधाई दी थी। गुरुवार को उन्होंने कहा कि उनकी बात पीएम मोदी से टेलीफोन पर हुई है। जेलेंस्की ने एक्स पर लिखा-मैंने मोदी से भारत में शीघ्रता से नई सरकार के गठन को लेकर शुभकामना दी। हमारे बीच आगामी शांति बैठक को लेकर भी बात हुई है। हम चाहते हैं कि भारत इस बैठक में उच्च स्तर पर हिस्सा ले। मैंने पीएम मोदी को जल्द से जल्द यूक्रेन की यात्रा करने के लिए आमंत्रित किया है।

बेंजामिन नेतन्याहू ने भी पीएम मोदी को दी बधाई

देर रात इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने भी पीएम मोदी से टेलीफोन पर बात की है। इसके बाद आर्मीनिया के राष्ट्रपति निकोल पाशिनयान ने भी मोदी को फोन कर बधाई दी।

यह भी पढ़ेंः

Modi 3.0 Govt: 18वीं लोकसभा में कितने सांसद हैं ग्रेजुएट? पहली बार पार्लियामेंट पहुंचने वालों की संख्या भी बढ़ी

राहुल गांधी के आरोपों पर पीयूष गोयल का करारा जवाब, बोले- भारत के निवेशकों ने महंगे दामों पर...