नई दिल्ली, एजेंसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को एनसीसी कैडेटों, एनएसएस स्वयंसेवकों, जनजातीय अतिथियों और झांकी कलाकारों के साथ बातचीत की। पीएम मोदी ने कहा कि ये युवा संवाद दो कारणों से मुझे विशेष महत्व के लिए होता है। एक तो इसलिए, क्योंकि युवाओं में ऊर्जा होती है, ताजगी होती है, जोश होता है, जुनून होता है, नयापन होता है। पीएम ने कहा कि आपके माध्यम से सारी सकारात्मकता मुझे निरंतर प्रेरित करती रहती है। दूसरा, युवा देश की आकांक्षाओं और सपनों का प्रतिनिधित्व करते हैं। विकसित भारत के सबसे बड़े लाभार्थी भी युवा हैं। देश के निर्माण की सबसे बड़ी जिम्मेदारी भी युवाओं के कंधे पर है।

पीएम ने एनसीसी और एनएसएस की तारीफ की

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एनसीसी और एनएसएस ऐसे संगठन हैं, जो युवा पीढ़ी को राष्ट्रीय लक्ष्यों से, राष्ट्रीय सरोकारों से जोड़ते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जिस प्रकार NCC और NSS के वॉलंटियर्स ने देश के सामर्थ्य को बढ़ाया, उसका पूरे देश ने अनुभव किया है। पीएम ने कहा कि आज देश में युवाओं के जितने नए अवसर हैं, वो अभूतपूर्व हैं। आज देश स्टार्टअप इंडिया, मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत जैसे अभियान चला रहा है।

जी-20 की अध्यक्षता पर पीएम ने लोगों से की गुजारिश

पीएम मोदी ने कहा कि स्पेस सेक्टर से लेकर एनवॉयरनमेंट और क्लाइमेट से जुड़े चैलेंज तक भारत आज पूरी दुनिया के भविष्य के लिए काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस साल हमारा भारत जी-20 की अध्यक्षता भी कर रहा है। ये भारत के लिए एक बड़ा अवसर है। आप इसके बारे में भी जरूर पढ़ें, स्कूल, कॉलेज में भी इससे जुड़ी चर्चा करें। पीएम ने कहा कि इस समय देश अपनी विरासत पर गर्व और गुलामी की मानसिकता से मुक्ति का संकल्प लेकर आगे बढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें: Fact Check: धीरेंद्र शास्त्री को Z+ सिक्योरिटी दिए जाने का बीबीसी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट फेक है

यह भी पढ़ें: घने कोहरे वाले दिन 154% तक बढ़ेंगे, क्लाइमेट चेंज के चलते उत्तर भारत में बढ़ेगी मुश्किल

Edited By: Devshanker Chovdhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट