Move to Jagran APP

अयोध्या, पठानकोट और केरल में भी होगा NSG का सेंटर, किसी भी प्रतिकूल स्थिति में जवाबी कार्रवाई में मिलेगी मदद

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) जल्द ही अयोध्या पठानकोट और केरल में अपनी इकाइयों की स्थापना करेगा। अधिकारी ने कहा कि अयोध्या पठानकोट और केरल में इस साल तक इकाइयां चालू हो जाएंगी। इससे स्थानीय पुलिस और अन्य सीएपीएफ इकाइयों को अपनी क्षमता बढ़ाने में मदद मिलेगी। इसके अलावा किसी भी प्रतिकूल स्थिति में एनएसजी को जवाबी कार्रवाई में कम समय लगेगा।

By Sonu Gupta Edited By: Sonu Gupta Wed, 12 Jun 2024 10:30 PM (IST)
अयोध्या, पठानकोट और केरल में भी होगा NSG का सेंटर। फाइल फोटो।

एएनआई, नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) जल्द ही अयोध्या, पठानकोट और केरल में अपनी इकाइयों की स्थापना करेगा। इसकी पुष्टि करते हुए एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पिछले कुछ समय से इसकी प्रक्रिया चल रही है। अगले कुछ महीनों में एनएसजी की अयोध्या यूनिट काम करना शुरू कर देगी। अन्य दो इकाइयों द्वारा इस साल के अंत तक कामकाज शुरू कर देने की उम्मीद है।

एनएसजी को जवाबी कार्रवाई में मिलेगी मदद

अधिकारी ने कहा कि अयोध्या, पठानकोट और केरल में इस साल तक इकाइयां चालू हो जाएंगी। इससे स्थानीय पुलिस और अन्य सीएपीएफ इकाइयों को अपनी क्षमता बढ़ाने में मदद मिलेगी। इसके अलावा किसी भी प्रतिकूल स्थिति में एनएसजी को जवाबी कार्रवाई में कम समय लगेगा।

अयोध्या स्थित राम मंदिर भारत के संवेदनशील प्रतिष्ठानों में से एक

विशेष रूप से अयोध्या स्थित राम मंदिर भारत के संवेदनशील प्रतिष्ठानों में से एक है और कहा जाता है कि यह विभिन्न आतंकवादी संगठनों के निशाने पर है। अधिकारी ने कहा कि निर्णय को अंतिम रूप देने से पहले इन स्थानों पर कई दौर की बैठकें हुईं। इन स्थानों पर एनएसजी यूनिटों को विशेष हथियारों और ड्रोन विरोधी उपकरणों से लैस किया जाएगा।

देशभर में आठ हो हो जाएंगे एनएसजी के केंद्र

पठानकोट में एनएसजी केंद्र स्थापित करने का निर्णय इस सीमावर्ती जिले के रणनीतिक महत्व को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। दूसरी तरफ केरल कट्टरपंथी ताकतों के लिए आश्रय स्थल बन गया है और इस्लामिक आतंकवादी समूहों के लिए आपूर्ति केंद्र में बदल रहा है। तीन नई इकाइयों के चालू होने के बाद देशभर में एनएसजी के कुल आठ केंद्र हो जाएंगे।

वर्तमान में मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद, चेन्नई और गांधीनगर में एनएसजी के पांच क्षेत्रीय केंद्र हैं। अधिकारी ने कहा कि तीनों नए स्थानों की पहचान खतरे की आशंका और आस-पास के संवेदनशील स्थानों से उनकी भौगोलिक निकटता के आधार पर की गई है।

यह भी पढ़ेंः

Modi Cabinet 2024: VIP सुरक्षा में बड़े बदलाव के संकेत! गृह मंत्रालय NSG और ITBP पर ले सकता है यह बड़ा फैसला

Kuwait Fire: कुवैत में आग लगने से 41 लोगों की मौत, 30 से अधिक भारतीय घायल; हेल्पलाइन नंबर जारी

PM Modi Italy Visit: G-7 शिखर सम्मेलन में शामिल होने इस दिन इटली जाएंगे पीएम मोदी, मेलोनी से करेंगे मुलाकात