रायपुर, राज्य ब्यूरो। हमारी 'छत्तीसगढ़ी' भाषा भी अब ग्लोबल (विश्वव्यापी) होगी। अमेरिका में रह रहे छत्तीसगढ़ियों के संगठन 'नाचा' ने इसकी पहल की है। नाचा यानी नार्थ अमेरिका छत्तीसगढ़ एसोसिएशन ने छत्तीसगढ़ी शब्दकोश का राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय भाषाओं में अनुवाद करने की शुरुआत की है। इसे छत्तीकोश नाम दिया गया है।

छत्तीसगढ़ भाषा को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने का लक्ष्य

नाचा ने 2021 के लिए छत्तीसगढ़ भाषा को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने का लक्ष्य तय किया है। इसके साथ ही संगठन देश में छत्तीसगढ़ी को भाषा का दर्जा दिलाने के लिए संविधान की आठवीं अनुसूचि में शामिल कराने के लिए भी अपनी तरफ से प्रयास करेगी।

छत्तीसगढ़ की कला और संस्कृति को अंतरराष्ट्रीय मंच पर बढ़ावा देने के लिए नाचा ने की पहल

छत्तीसगढ़ की कला और संस्कृति को अंतरराष्ट्रीय मंच पर बढ़ावा देने के लिए नाचा न केवल अमेरिका बल्कि दुनिया के अन्य देशों में भी कार्यक्रमों का आयोजन कर रही है। नाचा के कार्यकारी अध्यक्ष गणेश कर का कहना है कि नाचा न केवल छत्तीसगढ़ी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने की कोशिश कर रहा है बल्कि देश में छत्तीसगढ़ी को संविधान की आठवीं अनुसूचित में शामिल कराने की भी पहल करेंगे। इसके लिए जल्द ही एक कार्यसमिति बनाई जाएगी। कार्यसमिति के सदस्य दूसरे संगठनों और जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर इसके लिए संयुक्त प्रयास करेंगे।

नाचा के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा- छत्तीगसढ़ी के वैश्विक शब्दकोश डिजिटल प्लेटफार्म पर होंगे उपलब्ध

कर ने कहा कि उम्मीद है कि हम इसमें सफल होंगे। विभिन्न डिजीटल प्लेटफार्म पर उपलब्ध होंगे एक लाख 70 हजार शब्द नाचा के कार्यकारी अध्यक्ष कर ने इस संबंध में फेसबुक पर एक पोस्ट भी डाला है। बताया कि है छत्तीगसढ़ी के वैश्विक शब्दकोश वेबसाइट्स और एप समेत अन्य डिजिटल प्लेटफार्म पर भी उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ी शब्दकोश लगभग 170000 छत्तीसगढ़ी शब्द शामिल होंगे जिन्हें कोई भी अपनी छत्तीकोश वेबसाइट या एप्स का उपयोग करके किसी भी अंतरराष्ट्रीय भाषा में अनुवाद किया जा सकेगा।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप