कोलकाता। करोड़ों रुपये के सारधा चिटफंड घोटाले की जांच कर रही सीबीआई द्वारा अपने नेताओं पर लगातार शिकंजा कसे जाने के खिलाफ ममता बनर्जी सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में हैं। संभावना है कि सोमवार को जांच की निगरानी सुप्रीम कोर्ट द्वारा किए जाने की मांग वाली याचिका दाखिल की जाएगी। इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोटाले की सीबीआई जांच रोकने के लिए भी कानूनी लड़ाई लड़ी थी।

पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मुकुल रॉय को सीबीआई द्वारा तलब किए जाने के बाद तृणमूल ने आर-पार की लड़ाई शुरू कर दी है। मुकुल भी दिल्ली में इस बाबत बंगाल की कानून मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य के साथ अपने अधिवक्ताओं से कानूनी सलाह ले रहे हैं। शुक्रवार को उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के प्रसिद्ध वकील व पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल से मुलाकात की थी। संकेत मिले हैं कि सोमवार को सीबीआई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की जा सकती है।

ममता सरकार व तृणमूल कांग्रेस के इस कदम की विरोधी दल माकपा, कांग्रेस व भाजपा ने कड़ी आलोचना की है। माकपा नेता सुजन चक्रवर्ती ने कहा कि जांच एजेंसी के खिलाफ नया हथकंडा अपनाया जा रहा है। माकपा भी सरकार के खिलाफ मुकदमा करेगी। कांग्रेस नेता अब्दुल मन्नान ने कहा कि पहली सुनवाई में ही राज्य सरकार की याचिका खारिज हो जाएगी, क्योंकि सीबीआई जांच सही है।

पढ़ेंः ममता का नए साल से ट्विटर पर आगाज

पढ़ेंः TMC नेता की धमकी, ममता को छुआ तो खुद को खत्म कर लूंगा

Posted By: manoj yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस