नई दिल्ली, पीटीआई। चुनावी राज्य गुजरात में अब तक 290 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की नकदी, मादक पदार्थ, शराब और उपहार जब्त किए गए हैं जो राज्य में 2017 के पूरे विधानसभा चुनाव के दौरान की गई बरामदगी से 10 गुना अधिक है। गुजरात में एक और पांच दिसंबर को दो चरणों में चुनाव होने जा रहे हैं। चुनाव आयोग के अनुसार, विभिन्न प्रवर्तन एजेंसियों के माध्यम से इसकी योजना और निगरानी के कारण राज्य में चुनाव प्रक्रिया के दौरान रिकॉर्ड बरामदगी हुई है। एक महत्वपूर्ण "दवाओं की भारी खेप की चल रही जब्ती प्रक्रिया" का नेतृत्व एटीएस गुजरात के अधिकारियों की एक टीम कर रही है जो वड़ोदरा (ग्रामीण) और वडोदरा शहर में एक अभियान चला रही है।

टीम ने दो मेफेड्रोन दवा निर्माण इकाइयों की पहचान की है और लगभग 478 करोड़ रुपये मूल्य के 143 किलोग्राम मेफेड्रोन (सिंथेटिक दवा) का पता लगाया है। उन्होंने नडियाद और वडोदरा से पांच लोगों को हिरासत में लिया है और एटीएस पुलिस स्टेशन, अहमदाबाद में एनडीपीएस अधिनियम, 1985 की संबंधित धाराओं के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज किया जा रहा है।

चुनाव आयोग ने कहा, अभियान जारी है और अभियान पूरा होने के बाद पूरी जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। 2017 के गुजरात विधानसभा चुनाव में कुल जब्ती 27.21 करोड़ रुपये थी। जबकि इस बार 29 नवंबर तक कुल जब्ती 290.24 करोड़ रुपये थी जो 2017 में बरामदगी का 10.66 गुना।

Video: Gujarat Election 2022: Arvind Kejriwal को कच्छ में झटका, AAP उम्मीदवार का BJP Candidate को समर्थन

गुजरात एटीएस द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन में जब्त की गई प्रतिबंधित दवाओं के अलावा 61.96 करोड़ रुपये की ड्रग्स बरामद की गई है। चुनाव आयोग के आंकड़ों में कहा गया है कि ड्राई स्टेट से 14.88 करोड़ रुपये मूल्य की चार लाख लीटर से अधिक शराब बरामद की गई है।

ये भी पढ़ें: Fact Check Story: राहुल गांधी ने नहीं दिया चीलों के बेरोजगार होने का बयान, वायरल हो रहा ऑल्टर्ड वीडियो

Gujarat Election 2022: भाजपा प्रत्याशी ने शराब की बिक्री पर दिया विवादित बयान! पुलिस ने दर्ज किया केस

Edited By: Shashank Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट