बेंगलुरु। आइएएस अधिकारी डीके रवि की संदेहास्पद मौत की जांच सीबीआइ से कराने की बढ़ती मांग के बीच कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरमैया ने कहा है कि उनकी सरकार किसी को बचा नहीं रही है। शनिवार को पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि हम कुछ छिपाने नहीं जा रहे हैं। हम किसी को बचाने भी नहीं जा रहे हैं। हमारा भी यही मानना है कि जांच से सच्चाई सामने आनी चाहिए। उन्होंने बताया कि चंूकि इस समय विधानसभा का सत्र चल रहा है, इसलिए सरकार अपने अगले कदम की जानकारी सोमवार को सदन में ही देगी।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा इस मामले की जांच सीबीआइ से कराने की सलाह के बाद राज्य सरकार पर बहुत ज्यादा दबाव बढ़ गया है। हालांकि सिद्दरमैया का कहना है कि गांधी ने उन्हें इस मामले में कोई निर्देश नहीं दिया है। मुख्यमंत्री के अनुसार, पार्टी अध्यक्ष ने हमें कहा है कि कोई भी फैसला राज्य सरकार को लेना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीबीआइ की तरह ही सीआइडी भी एक स्वतंत्र जांच एजेंसी है और हमें अपनी पुलिस का हौसला बनाए रखना चाहिए। हम राज्य की जनता और डीके रवि के माता-पिता की भावनाओं को समझते हैं। मैं 18 मार्च को रवि के माता-पिता से मिला था। मैंने उस समय भी पोस्टमार्टम व अन्य रिपोर्ट आ जाने के बाद कोई फैसला लेने की बात कही थी।

मुख्यमंत्री ने विपक्षी दलों खासतौर से जदएस की कड़ी आलोचना की और इस घटना से राजनीतिक लाभ उठाने की कोशिश करने का आरोप लगाया। अस्पताल जाकर जांच को प्रभावित करने की कोशिश करने के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के आरोपों पर उन्होंने कहा कि यह गैरजिम्मेदार और राजनीति से प्रेरित बयान है।

जदएस ने जारी किया ऑडियो टेप

जदएस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने ऑडियो टेप जारी कर रवि की मौत के मामले में नई जानकारी सामने आने का दावा किया है। इस ऑडियो टेप में कोलार के विधायक और एक अधिकारी के बीच बातचीत दर्ज है। डीके रवि जब कोलार में उपायुक्त के पद पर तैनात थे, उस वक्त वह अधिकारी उनके अधीन काम कर रहा था। इस टेप में विधायक को अधिकारी पर चार गाड़ी बालू छोडऩे के लिए दवाब डालते सुना जा सकता है। विधायक अगले दो दिनों में रवि के तबादले की बात भी कर रहा है।

इसे भी पढ़ें: मौत से पहले आइएएस रवि ने 44 बार किया था महिला अफसर को फोन!

इसे भी पढ़ें: सिद्धरमैया को सोनिया की सलाह, आइएएस रवि की मौत की जांच सीबीआइ को सौंपें

Edited By: Tilak Raj

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट