नई दिल्‍ली, जेएनएन। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को चार नए जजों  ने पद की शपथ ली। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने हिमाचल प्रदेश के चीफ जस्‍टिस वी. रामासुब्रमण्‍यम, पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के चीफ जस्‍टिस कृष्‍ण मुरारी, राजस्‍थान के चीफ जस्‍टिस एस.ए. रवींद्र भट और केरल के चीफ जस्‍टिस  हृषिकेश रॉय को शपथ दिलाई। अब सुप्रीम कोर्ट में जजों की कुल संख्या 34 हो गई है।

केंद्र सरकार ने 18 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट कालेजियम के सुझाए गए इन नामों पर मुहर लगा दी थी। सुप्रीम कोर्ट में जजों की कुल संख्या दस फीसद बढ़ाए जाने का विधेयक लोकसभा और राज्यसभा में पारित हुआ था। इसके साथ ही बढ़ी संख्‍या पर इनके वेतन के लिए भी धन आवंटित किया गया। इसे वित्त विधेयक के तौर पर दोनों सदनों से पारित किया गया।

कानून मंत्रालय के अनुसार, जुलाई माह में 11.5 लाख से अधिक लंबित मामले थे। इस साल के शुरुआत में चीफ जस्‍टिस गोगोइ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस कमी का उल्‍लेख कर पत्र के जरिए अवगत कराया। पत्र में उन्‍होंने यह भी लिखा जजों की कमी के कारण मुख्‍य मामलों की सुनवाई के लिए संवैधानिक बेंचों पर पर्याप्‍त संख्‍या नहीं रखी जा सकती।

यह भी पढ़ें: आपत्तियों को दरकिनार कर सुप्रीम कोर्ट के जज बनाए गए संजीव खन्‍ना व दिनेश माहेश्‍वरी

यह भी पढ़ें: CJI गोगोई आज दिलाएंगे जस्टिस महेश्वरी, जस्टिस खन्ना को सुप्रीम कोर्ट जज के रूप में शपथ

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस