नई दिल्ली, आइएएनएस। भगोड़े अंडरव‌र्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम ने नेपाल के काठमांडू में अपना बड़ा अड्डा बना रखा है। वहीं से वह भारत में नकली नोट भेजता है। नेपाल में पाकिस्तान के दूतावास के खास अधिकारियों के जरिए ही वह अपना धंधा चलाता है। कभी दाऊद गैंग का सदस्य रहे एजाज लकड़ावाला ने मुंबई पुलिस की पूछताछ में यह जानकारी दी है। लकड़ावाला को आठ जनवरी को बिहार की राजधानी पटना से गिरफ्तार किया गया था।

लकड़ावाला ने मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान के कराची में दो घरों का पता भी बताया है। मुंबई पुलिस की अपराध शाखा के शीर्ष अधिकारियों ने मुताबिक दाऊद के एक घर का पता 6ए, खायाबन तंजीम फेज-5, डिफेंस हाउसिंग एरिया, कराची और दूसरे घर का पता डी-13, ब्लॉक-4, क्लिफ्टॉन, कराची है। दाऊद का भाई अनीस इब्राहिम और उसका खास छोटा शकील भी डिफेंस हाउसिंग एरिया में ही रहते हैं।

अधिकारियों ने लकड़ावाला की गिरफ्तारी को बहुत बड़ी उपलब्धि बताया। उसके पास दाऊद के भारतीय नकली मुद्रा के धंधे के बारे में अहम जानकारियां हैं।

मुंबई पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक एजाज लकड़ावाला भी कभी दाऊद गिरोह का सदस्य था और वह ड्रग तस्करी समेत तमाम गैर कानूनी गतिविधियों को देखता था। लेकिन 1993 में मुंबई में हुए विस्फोट के बाद वह छोटा राजन के साथ दाऊद गैंग से अलग हो गया था। बाद में पैसे के बंटवारे को लेकर छोटा राजन से मतभेद होने के बाद उसने आपना अलग गिरोह बना लिया था और नीदरलैंड में रहकर ड्रग तस्करी इत्यादि का धंधा चला रहा था।

लकड़ावाला ने यह भी बताया है कि दाऊद की थाइलैंड और बांग्लादेश में भी अच्छी पकड़ है और वह इन दोनों देशों के माध्यम से भारत, यूरोप और अन्य देशों में ड्रग भेजता है। उसने यह भी बताया था कि छोटा राजन ने कराची में दाऊद इब्राहिम को मारने की योजना बनाई थी। दाऊद अपनी बेटी के जनाजे में आने वाला था। राजन का शॉर्प शूटर विकी मलहोत्रा उसे मारने गया था, लेकिन दाऊद जनाजे में आया ही नहीं।

इस बीच, खुफिया एजेंसियों ने जानकारी दी है कि दाऊद लकड़ावाला को मरवाने की साजिश रच रहा है। दाऊद का गैंग जिसे डी कंपनी के नाम से भी जाना जाता है, लकड़ावाला के जेल जाने के बाद उसकी जेल में हत्या करने की साजिश रच रही है।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस