नई दिल्ली [जेएनएन]। कोसी और सीमांचल में आए तूफान के पीडि़तों को राहत मुहैया कराने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तत्परता से उनके कïट्टर राजनीतिक विरोधी व बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी उनके मुरीद हो गए हैं। 61 लोगों की जान और सैकड़ों करोड़ रुपये के माल का नुकसान करने वाले इस तूफान में तत्काल मदद के लिए नीतीश ने मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह का शुक्रिया अदा किया है।

राजनाथ सिंह के साथ तूफान प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वे करने के बाद पूर्णिया में नीतीश कुमार ने कहा कि मंगलवार की रात आए तूफान के अगले ही दिन सुबह केंद्रीय गृहमंत्री ने और उसके बाद शाम को प्रधानमंत्री ने उन्हें फोन करके पूरी मदद का भरोसा दिया। दोनों नेताओं ने जिस तरह का भरोसा दिया और मदद उपलब्ध कराई उससे बिहार सरकार उनकी आभारी है।

नीतीश कुमार जिस समय मोदी की तारीफ कर रहे थे, उस समय बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी भी मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि नरेंद्र मोदी को भाजपा में प्रमुखता मिलने का विरोध करते हुए ही नीतीश राजग से बाहर आए थे। इतना ही नहीं लोकसभा चुनाव के बाद मोदी से आमना-सामना बचाने की मंशा से ही उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री का पद छोड़ा। लेकिन राजनीतिक हालात कुछ ऐसे बदले कि नीतीश कुमार को अब फिर से राज्य का मुख्यमंत्री पद संभालना पड़ा और प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करनी पड़ी। इन परिस्थितियों के बाद अब नीतीश का सार्वजनिक रूप से मोदी की तारीफ करना भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

राजनाथ ने दिया मदद का भरोसा

चक्रवाती तूफान से हुई तबाही देख गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दुख जताया और हरसंभव मदद का भरोसा दिया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व अन्य केंद्रीय मंत्रियों के साथ उन्होंने पूर्णिया, मधेपुरा सहित तूफान प्रभावित कई जिलों का शुक्रवार को हवाई सर्वेक्षण किया। सर्वे के बाद राजनाथ सिंह ने कहा कि तूफान प्रभावित परिवारों की मदद के लिए धन की कमी नहीं होने दी जाएगी। संकट की इस घड़ी में केंद्र सरकार राज्य के साथ खड़ी है। गृहमंत्री केंद्रीय संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद व कृषि मंत्री राधामोहन सिंह के साथ पूर्णिया पहुंचे थे।

पढ़ेंः नहीं थमे आशुतोष के आंसू, फूट-फूट कर रोए

Edited By: Gunateet Ojha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट