Move to Jagran APP

Success Story: पिता कैब ड्राइवर, बेटी ने गरीबी से जूझकर ऐसे पास की UPSC परीक्षा, बन गईं IAS अफसर

सी वनमथी तमिलनाडु के इरोड जिले से ताल्लुक रखती हैं। उनके पिता कैब ड्राइवर थे लेकिन Success Story उनकी कमाई से घर खर्च चलाना मुश्किल था। इसलिए उन्हें मदद करने के लिए सी वनमथी बचपन में भैंसो को चराती थी। वह पढ़ाई के साथ-साथ खाली समय में पशु चराने जाया करती थीं जिससे उन्हें जानवरों के दूध बेचकर कुछ पैसे आ सके।

By Nandini DubeyEdited By: Nandini DubeyPublished: Sat, 07 Oct 2023 02:23 PM (IST)Updated: Sun, 08 Oct 2023 07:36 AM (IST)
Success Story: तमिलनाडु के इरोड जिले से ताल्लुक रखने वाली सी वनमथी ने पास की UPSC परीक्षा

 एजुकेशन डेस्क, नई दिल्ली। Success Story: कहते हैं कि अगर इरादे मजबूत हों और कड़ी मेहनत की जाए तो सफलता मिलना मुश्किल नहीं होता है। इसी बात को सच साबित कर दिखाया है कि आईएएस अधिकारी सी वनमथी ने। ऑफिसर वनमथी ने, उन परिस्थितियों में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में सफलता पाई, जब शायद ही कोई अन्य ऐसा कर पाए। लेकिन उन्होंने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति और दिन-रात की कड़ी मेहनत से ऐसा संभव कर पाया। आइए जानते हैं इनकी पूरी कहानी।

loksabha election banner

सी वनमथी तमिलनाडु के इरोड जिले से ताल्लुक रखती हैं। उनके पिता कैब ड्राइवर थे, लेकिन उनकी कमाई से घर खर्च चलाना मुश्किल था। इसलिए उन्हें मदद करने के लिए सी वनमथी बचपन में भैंसो को चराती थी। वह पढ़ाई के साथ-साथ खाली समय में पशु चराने जाया करती थीं, जिससे उन्हें जानवरों के दूध बेचकर कुछ पैसे आ सके। वनमथी इन्हीं परिस्थितियों को देखते हुए वे जीवन में कुछ हासिल करना चाहती थीं। इसके लिए वे दिन-रात खूब मेहनत भी करती थीं। पैसे कमाने के साथ-साथ पढ़ती थीं।

12वीं के बाद बना शादी का दबाव

सी वनमथी जैसे ही 12वीं कक्षा में पहुंची तो मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रिश्तेदारों ने उन पर शादी का दबाव बनाया । हालांकि, उनके माता-पिता उनके विवाह के पक्ष में नहीं थे। वे चाहते थे कि वनमथी खूब पढ़ें-लिखें और इसलिए उन्होंने रिश्तेदारों की एक बात नहीं सुनी।

क्लीयर की UPSC परीक्षा 

12वीं के बाद उन्होंने कंप्यूटर एप्लीकेशन में ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद उन्होंने यूपीएससी सिविल सेवा की परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी। इसके लिए उन्होंने दिन-रात की पढ़ाई की। खूब मेहनत की। अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए डटी रहीं। हालांकि, इस दौरान कई मुश्किलें आईं लेकिन उन्होंने हार नहीं मानीं। अंत में उन्हें सफलता मिली। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने एग्जाम में 152वीं रैंक हासिल की। फिलहाल में,मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सी वनमथी महाराष्ट्र के नंदुरबार में असिस्टेंट कलेक्टर और प्रोजेक्ट ऑफिसर के पद पर तैनात हैं।

यह भी पढ़ें:  Success Story: आईएएस बनने के लिए हरि चंदना दसारी छोड़ी लंदन की नौकरी, दूसरे प्रयास में पूरा हुआ सपना


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.