जागरण डिजिटल डेस्क : भारत जोड़ो यात्रा में सड़कों पर यात्रा करते कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी Rahul Gandhi और बाकी नेता, यहां उड़ती हुई धूल की शिकायत करते हैं, लेकिन उनका कहना है कि यह धूल उनके कपड़ों पर दिखती नहीं है। यात्रा में हर नेता के कपड़ों में सफेदी की चमकार होती है। इस चमक के पीछे सफाई वाली टीम

लगी हुई है।

यात्रा में शामिल होने वाला कोई भी व्यक्ति होटलों में नहीं रुकता है, लोगों के ठहरने के लिए सुविधा सड़कों पर की गई है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि हमारी यात्रा के साथ हाउस कीपिंग की पूरी टीम चलती है। इसके तहत खास मशीने लाइ गई है। यात्रा में मुंबई से शामिल हुआ दल इस कार्य को देखता है। उन्होंने बताया कि रोजाना 250 लोगों के कपडे धुलते हैं और न सिर्फ कपड़े नहीं चादरें और टावेल भी धुलें जातें हैं।

यात्रा के दौरान ऐसे धुलते हैं सबके कपड़े

मुंबई के दल के वेंकटेश मारिमुथु इस काम को संभालते हैं। वेंकटेश ने बताया कि उनकी सात लोगों की टीम है जो इसे संभालती है। वहीं 33 लोग हाउस कीपिंग का काम करते हैं। वेंकटेश के सहयोगी बाबुराव ने बताया कि घर की मशीनों में उतनी क्षमता नहीं होती है, इसलिए यहां बड़ी और ज्यादा क्षमता की मशीने बुलाई गई है। इन मशीनों में एक साथ 50 से 60 कपड़ों को धोया जाता है, इसके साथ इसी में कपडे ड्राई भी हो जाते हैं। कपडे सुखाने के लिए भी मशीने हैं लेकिन हम फिर भी धुप में कपड़ों को सुखाते हैं, जिससे हमारा समय बाख सके। कपड़ों को प्रेस करने के लिए खास मशीने हैं जो वैक्यूम का इस्तेमाल करके अच्छी तरह से कपड़ों को प्रेस कर देती है। इस वैक्यूम से से कपडे फिसलते नहीं हैं। बाबुराव ने बताया कि उनकी टीम यात्रा के साथ-साथ चलती है। एक जगह कपडे धोकर दुसरे स्थान पर अपनी तैयारी शुरू कर देती है।

सबके साथ धुलते हैं राहुल गांधी के कपड़े

सहयोगी बाबुराव ने बताया कि राहुल गांधी के कपड़े भी सबके साथ ही धुलते हैं। राहुल गांधी के रोज 10 कपडे आते हैं धुलने के लिए, जिसमें टी-शर्ट के अलावा मोजे, रुमाल जैसे वस्त्र शामिल हैं। एक दिन में राहुल गांधी की तीन टी-शर्ट धुलने आती है।

Bina News: परिवार संग गई थी जगन्नाथ पुरी, समुद्र तट पर मिला शव, शहरवासियों ने किया प्रदर्शन

Edited By: Nidhi Vinodiya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट