Move to Jagran APP

MP: सीधी में ध्वजारोहण के बाद अंबेडकर और बिरसा मुंडा की तस्वीरों से हुई तोड़फोड़, नाबालिग समेत दो गिरफ्तार

मध्य प्रदेश के सीधी जिले में गणतंत्र दिवस के दिन ध्वजारोहण के बाद डॉक्टर भीमराव अंबेडकर और बिरसा मुंडा की तस्वीरों को फाड़ने का मामला सामने आया है। जिसमें पुलिस ने अमरेश द्विवेदी और निक्कू द्विवेदी नाम के दो लोगों को गिरफ्तार किया है। ( फाइल फोटो)

By Jagran NewsEdited By: Preeti GuptaPublished: Fri, 27 Jan 2023 01:11 PM (IST)Updated: Fri, 27 Jan 2023 01:11 PM (IST)
सीधी में ध्वजारोहण के बाद अंबेडकर और बिरसा मुंडा की तस्वीरों से हुई तोड़फोड़

भोपाल, ऑनलाइन डेस्क। मध्य प्रदेश के सीधी जिले से डॉक्टर भीमराव अंबेडकर और बिरसा मुंडा की तस्वीरों को फाड़ने का मामला सामने आया है। यह घटना गणतंत्र दिवस के दिन ध्वजारोहण के बाद हुई थी। डॉक्टर भीमराव आंबेडकर और बिरसा मुंडा की तस्वीरों को फाड़ने का आरोप एक नाबालिग और एक युवक पर लगा है। यह पूरी घटना सीधी जिले के ग्राम पंचायत पड़खुरी नंबर दो की है। जमोड़ी थाना पुलिस ने तुरंत ही मामले को दर्ज कर लिया है और मामले की जांच अभी आगे जारी है।

ध्वाजारोहण के बाद फाड़ी तस्वीरें

पुलिस जांच के मुताबिक अमरेश द्विवेदी और निक्कू द्विवेदी नाम के दो लोगों ने गणतंत्र दिवस पर सीधी में डॉ भीमराव अंबेडकर और बिरसा मुंडा की तस्वीरों को कथित तौर पर तोड़-फोड़ की थी। हालांकि पुलिस ने दोनों ही आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि उन्होंने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आगे की जांच जारी है। बताया जा रहा है कि यह दोनो ही आरोपी चचेरे भाई थे।

दोनों में हो गई थी बहस

गणतंत्रता दिवस के अवसर पर ग्राम पंचायत पड़खुरी में सरपंच सुरेश द्वारा ध्वजारोहण किया गया था। तिरंगा फहराने के करीब एक घंटे बाद अमरेश द्विवेदी और एक नाबालिग उस रास्ते से गुजर रहे थे। उसी दौरान दोनों के बीच कथित कारणों से आपस में बहस हो गई थी। सरपंच ने यह आरोप लगाया है कि बहस के दौरान दोनों ने कुर्सी पर रखी फोटो को फाड़ दिया। पुलिस ने सरपंच की शिकायत मिलने पर एफआईआर दर्ज कर ली है। हालांकि गांव के लोगों का यह मानना है कि दोनों में आरोप-प्रत्यारोप हाल में हुए चुनाव को लेकर हुआ है।

यह भी पढ़े- Fact Check: ‘पठान’ फिल्म को लेकर शाहरुख खान के नाम से वायरल हुआ फर्जी बयान

कक्षा नवमी का छात्र है नाबालिग

डॉक्टर भीमराव अंबेडकर और बिरसा मुंडा की तस्वीरों को फाड़ने वाले आरोपी अमरेश द्विवेदी के साथ एक नाबालिग भी मौजूद था। वह उसी गांव के ही स्कूल में कक्षा नौवीं का छात्र है। वह स्कूल से झंडारोहण करने के बाद वापस घर जा रहा था। जब ग्राम पंचायत भवन के पास से गुजरा तो दोनों की आपस में कहासुनी हुई थी। जिसके बाद धीरे-धीरे दोनों में बात बढ़ गई। वह दोनो ही फोटो को तोड़ने और फेंकने लगे थे।

यह भी पढ़े- BBC Documentary Row: JNU के बाद DU में डॉक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग की तैयारी, छात्र संघ और प्रशासन आमने-सामने


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.