बहुत से लोग ऐसे होते हैं, जो रोमांटिक डेस्टिनेशन या हिल स्टेशन पर चाहें कितना भी घूम लें लेकिन उनके मन में किसी धार्मिक जगह पर जाने का ख्याल रहता है। कोई वैष्णो देवी जाना चाहता है, तो कोई मानसरोवर की यात्रा पर जाना चाहता है। वहीं कुछ लोग शिरडी जाने की प्लानिंग भी करते हैं। अगर आपने भी शिरडी जाने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी बातें जो आपके काम आएंगी। शिरडी मुंबई से करीब 250 किलोमीटर और औरंगाबाद से 110 किलोमीटर दूर है। अगर आप मुंबई घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं तो आप शिरडी घूम सकते हैं। 

शिरडी जाने के लिए बेस्ट टाइम 

शिरडी पूरे साल कभी जा सकते हैं लेकिन धार्मिक स्थल होने के कारण खास मौकों पर काफी भीड़भरा होता है खासतौर पर गर्मियों की छुट्टियों के दौरान इसलिए अक्टूबर से मार्च सबसे अच्छा समय है क्योंकि इस दौरान यहां ज्यादा भीड़ नहीं होती। इसके अलावा सोमवार और शुक्रवार के दिन भी मंदिर में कम भीड़ होती है। छुट्टी वाले दिन, वीकेंड या किसी धार्मिक त्योहार के समय यहां जाने से बचें। हर गुरुवार को साईं बाबा की पालकी निकाली जाती है और इस दिन भी यहां काफी भीड़ होती है। 

आरती में शामिल होने के लिए कराना पड़ेगा रजिस्ट्रेशन 

दिन में पांच बार साईं आरती होती है सुबह 4।15 बजे सबसे पहले भूपाली आरती है इसके बाद 4।30 बजे काकड़ आरती, दोपहर 12 बजे मध्यान आरती, सूर्यास्त के समय धूप आरती और रात 10।30 बजे सेज आरती होती है। अगर आप आरती का हिस्सा बनना चाहते हैं तो ऑनलाइन 400 रुपए रजिस्ट्रेशन के चुकाकर किसी भी आरती का हिस्सा बन सकते हैं।

दर्शन के लिए करानी पड़ती है बुकिंग 

पीक सीजन में दर्शन के समय का कोई अंदाजा नहीं है इसमें कई घंटे भी लग सकते हैं और खाली समय के दौरान आप 1 घंटे में भी दर्शन करके बाहर आ सकते हैं। अगर आप लंबी लाइन में नहीं लगना चाहते हैं और जल्दी दर्शन करना चाहते हैं तो दर्शन की 200 रुपए में ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं।

 

Posted By: Pratima Jaiswal