Move to Jagran APP

लंबे समय तक बैठने से घटती है उम्र, इन आदतों में बदलाव लाकर कर सकते हैं बचाव

एक स्टडी में पाया गया है कि एक दिन में 12 घंटे से अधिक बैठना आपकी लाइफस्पैन को कम कर सकता है। इनएक्टिव लाइफस्टाइल कई बीमारियों का कारण बन सकता है। जानें क्या नुकसान हो सकते हैं अधिक समय तक बैठने के और कैसे अपनी डेस्क जॉब के बावजूद अपनी लाइफस्टाइल में छोटे-छोटे बदलाव कर उसे एक्टिव बना सकते हैं।

By Swati SharmaEdited By: Swati SharmaPublished: Mon, 06 Nov 2023 03:52 PM (IST)Updated: Mon, 06 Nov 2023 03:52 PM (IST)
लंबे समय तक बैठे रहने की आदत सेहत के लिए खतरनाक हो सकती है।

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Sitting: क्या आपको पता है, आप दिनभर में कितना समय बैठकर निकालते हैं? अगर आपने पहले कभी इस बात पर ध्यान नहीं दिया, तो अब देना शुरू कर दीजिए। ब्रिटिश जर्नल ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन की एक स्टडी के अनुसार 12 घंटे से अधिक बैठना आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। अधिक समय तक बैठना आपकी लाइफ स्पैन को कम कर सकता है। स्टडी के अनुसार रोज 20-25 मिनट एक्सरसाइज करना, आपके लिए मददगार हो सकता है। आइए जानते हैं, Sedentary lifestyle से आपकी सेहत को क्या-क्या नुकसान झेलने पड़ सकते हैं और कैसे आपके इनएक्टिव जीवनशैली के प्रभावों को कम कर सकते हैं।

मोटापा

अधिक समय तक बैठने से आपका वजन बढ़ सकता है। एक्टिव लाइफस्टाइल न होने की वजह से आपकी कैलोरी बर्न नहीं होती और वह शरीर में इकट्ठी होने लगती है। इसलिए आपका वजन बढ़ने लगता है। मोटापा एक गंभीर बीमारी है, जो अन्य दूसरी बीमारियों की वजह भी बन सकता है।

हार्ट डिजीज

इनएक्टिव लाइफस्टाइल आपके दिल के लिए बहुत खतरनाक हो सकती है। शारीरिक एक्टिविटी की कमी की वजह से आपकी बॉडी में गुड कोलेस्ट्रॉल की कमी होने लगती है और बैड कोलेस्ट्रॉल आपकी आर्टरीज में इकट्ठा होने लगता है। यह हार्ट अटैक या अन्य दूसरी कार्डियोवैस्कुलर डिजीज होने के खतरे को बढ़ा देता है।

यह भी पढ़ें: क्या वायु प्रदूषण बन सकता है हार्ट अटैक की वजह, जानें क्या है एक्सपर्ट का कहना

डायबिटीज

एक्सरसाइज की कमी के कारण, हमारी बॉडी शुगर लेवल को कंट्रोल नहीं कर पाती। इस वजह से ब्लड में शुगर लेवल बढ़ जाता है, जो डायबिटीज की वजह बन सकता है। इस वजह से आप मोटापे का शिकार भी हो सकते हैं।

हाइपरटेंशन

कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने की वजह से हमारी दिल की धमनियां संकरी होती जाती है, जिससे रक्त के बहाव में परेशानी होती है। इस वजह से आर्टरीज में रक्त के प्रवाह की वजह से प्रेशर अधिक पड़ने लगता है, जिसकी वजह से हाइपरटेंशन की समस्या हो सकती है।

स्ट्रोक

स्ट्रोक में आपके दिमाग के सेल्स को ऑक्सिजन नहीं मिल पाता और वे मरने लगते हैं, जिससे नर्व डैमेज होता है। इसका एक कारण हाइपरटेंशन हो सकता है, जो इनएक्टिव लाइफस्टाइल के कारण होता है। इससे दिमाग की नस फट सकती है और ब्लीडिंग शुरू हो जाती है।

किस तरह अपना बना सकते हैं अपनी लाइफस्टाइल को एक्टिव?

sedentary Lifestyle

  • रोज 30 मिनट वॉक पर जा सकते हैं।
  • लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल करें।
  • ऑफिस में बैठकर फोन पर बात करने के बजाय, टहलते हुए बात करें।
  • अगर आपके पास कोई पेट है, तो उसके साथ वॉक पर जाएं।
  • ऑफिस में थोड़ी-थोड़ी देर पर ब्रेक लेकर 5-10 मिनट घूम लें।
  • रोज 25-30 मिनट एक्सरसाइज करें।
  • घर पर टीवी देखने या विडियो गेम खेलने के बजाय कोई फिजिकल एक्टिविटी करें।

यह भी पढ़ें:  मांसपेशियों में दर्द हो सकता है विटामिन-डी की कमी का संकेत, इन फूड आइटम्स को करें अपनी डाइट में शामिल

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.