नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Reverse Walking Benefits: पैदल चलना सबसे आसान और फायदेमंद एक्सरसाइजेस में से एक है। इससे ना सिर्फ शरीर को मिलने वाली ऑक्‍सीजन की मात्रा में बढ़ोतरी होती है। रोजाना 15-20 मिनट की वॉकिंग करने से ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, हार्ट व किडनी के साथ कैंसर जैसी बीमारियों का खतरा भी काफी हद तक कम हो जाता है। पैदल चलने से शरीर में ‘एंडोर्फिन’ नामक हार्मोन का रिसाव होता है। जिसे ‘फील गुड’हार्मोंन भी कहते हैं। जिससे मूड अच्छा रहता है। सुबह के समय पैदल चलने से शरीर को ‘विटामिन डी’ की भी प्राप्ति होती है। खैर ये तो बात हुई नॉर्मल सैर की लेकिन क्या आप जानते हैं उल्टा चलने से भी सेहत को अनगिनत लाभ मिलते हैं। आज हम इसी के बारे में जानेंगे। 

1. जब आप उल्टी सैर करते हैं, तो इससे घुटनों के दर्द में आराम मिलता है। पीछे चलने से घुटनों का स्ट्रेस कम होता है। साथ ही सूजन की समस्या भी दूर होती है।

2. उल्टा चलने से पैरों को मजबूती मिलती है क्योंकि पीछे चलने के लिए ज्यादा ताकत लगानी पड़ती है। तो इससे पैरों की आगे-पीछे दोनों की तरफ की मसल्स की अच्छी-खासी एक्सरसाइज होती है, जिससे वो स्ट्रॉन्ग और टोन्ड होते हैं। 

3. पीठ या कमर के दर्द से परेशान हैं तब तो आपको जरूर कुछ मिनट उल्टी सैरी करनी चाहिए। इससे शरीर के इन अंगों की मांसपेशियों में खिंचाव दूर होता है। कमर और रीढ़ की हड्डियां मजबूत होती हैं। शरीर के कई सारे दर्द दूर होते हैं।

4. पैरों की उन मांसपेशियों को भी ताकत मिलती है जिनका ज्यादा इस्तेमाल नहीं होता है। घुटनों में किसी भी तरह की चोट व दर्द को ठीक करता है। उल्टा चलने से बैलेंस बनाने में मदद मिलती है।

5. शरीर की एक्स्ट्रा कैलोरी बर्न होती है। वजन कंट्रोल करने में मदद मिलती है। एनर्जी लेवल बढ़ता है।

मेंटल हेल्थ पर असर

उल्टा चलने से सिर्फ शारीरिक ही नहीं मानसिक लाभ भी मिलते हैं। क्योंकि उल्टा चलने की प्रैक्टिस नहीं होती तो जब आप इसे करते हैं तो आपको फोकस करने के लिए अपने दिमाग को फोर्स करना पड़ता हैं। जो एक ब्रेन के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज है।

अन्य फायदे

- नींद में सुधार करता है।

- देखने की क्षमता में सुधार करता है।

- सोचने-समझने की क्षमता तेज करता है। कॉग्निटिव कंट्रोल को बढ़ाता है।

- मेटाबॉलिज्म बूस्ट करता है।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें किसी पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Pic credit- freepik

Edited By: Priyanka Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट