नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। डायबिटीज एक लाइलाज बीमारी है, जो एक बार लग जाने के बाद जिंदगीभर साथ रहती है। इस बीमारी में शुगर कंट्रोल करना मुश्किल टास्क होता है। विशेषज्ञों की मानें तो रक्त में शर्करा स्तर बढ़ने और अग्नाशय से इंसुलिन हार्मोन न निकलने के चलते होती है। इसके लिए डायबिटीज के मरीजों को अपनी सेहत का विशेष ख्याल रखना पड़ता है। अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं और शुगर कंट्रोल करना चाहते हैं, तो करेले के बीज का सेवन कर सकते हैं। कई शोधों में खुलासा हो चुका है कि नियमित रूप से करेले के बीज के सेवन से शुगर को आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है। आइए, इसके बारे में सबकुछ जानते हैं-

करेला

करेला उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाई जाने वाली लता है। इसके फल का स्वाद कड़वा होता है। इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए लाभदायक होते हैं। खासकर डायबिटीज के लिए करेला रामबाण औषधि है। इसके नियमित सेवन से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। pphouse.org पर छपी एक शोध में खुलासा हुआ है कि 8 हफ्ते तक रोजाना सुबह में करेला का जूस पीने से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। इसके लिए डायबिटीज के मरीजों को रोजाना करेले का जूस का सेवन करना चाहिए।

क्या कहती है शोध

साल 2005 की एक शोध में बताया गया है कि करेले के फल और बीज के सेवन से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। यह शोध चूहों पर किया गया था। इसमें चूहों को रोजाना करेले के फल और बीज पाउडर डाइट में दी गई। इस शोध के जरिए खुलासा हुआ है कि डायबिटीज के मरीज शुगर कंट्रोल करने के लिए करेले के बीज को डाइट में जरूर शामिल करें। इसमें एंटी-डायबिटिक के गुण पाए जाते हैं। आप चाहे तो करेले के बीज को सलाद में मिलाकर सेवन कर सकते हैं। साथ ही आप रोस्ट कर स्नैक्स के रूप में खा सकते हैं।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Pravin Kumar