रांची, जासं। रांची के रिम्स मेडिकल कॉलेज में एक बार फिर रैगिंग का मामला सामने आने की बात कही जा रही है। इसके बाद प्रबंधन ने पूरे हॉस्टल परिसर में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती बढ़ा दी है। पुलिस को भी मौके पर बुलाकर मामला शांत कराया गया। बताया जा रहा है कि 2019 के छात्रों ने 2020 बैच के छात्रों के साथ बीती रात रैगिंग की। इसके बाद मामला तूल पकड़ता गया और रविवार को दोनों सत्र के छात्रों के बीच मारपीट की नौबत आ गई। स्टूडेंट वेलफेयर के डीन डा. हीरेन बिरुआ ने बताया कि हॉस्टल सात, तीन, चार और छह के छात्रों के बीच मारपीट की घटना हुई है।

हालांकि अभी तक रैगिंग करने की शिकायत दर्ज नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि देर रात जूनियर छात्र हाॅस्टल परिसर में परीक्षा के बाद पार्टी कर रहे थे। इससे काफी शोर हो रहा था। इसके बाद सीनियर ने इसका विरोध किया और मामला यहां तक पहुंच गया। इस घटना के बाद प्रबंधन के कई अधिकारी सभी हॉस्टलों का मुआयना कर रहे हैं और छात्रों को शांति बनाए रखने के लिए कह रहे हैं।

रैगिंग करने वालों को रोक रहे थे उनके ही साथी

हॉस्टल में रैगिंग करने वालों को उनके ही सीनियर साथी रोक रहे थे। इस बीच रोकने वाले सीनियर छात्रों पर ही जूनियर ने मारपीट का आरोप लगा दिया। जानकारी देते हुए जेडीए अध्यक्ष डा विकास ने बताया कि जब शोरगुल हो रहा था, तो सीनियर ने इसका विरोध किया, लेकिन कोई मान नहीं रहा था। इस बीच कुछ सीनियर छात्रों ने जूनियर छात्रों को बुलाया और उन्हें डांटने लगे। इस बीच सीनियर के ही कुछ साथी पहुंचे और इस तरह से नहीं करने को कहा। लेकिन जूनियर छात्रों ने हंगामा करना शुरू कर दिया और मारपीट करने लगे। इसके बाद रविवार को फिर मारपीट हुई। इसके बाद प्रबंधन ने सभी को हॉस्टल में रहने का निर्देश दिए हैं।

Edited By: Sujeet Kumar Suman