Move to Jagran APP

Jharkhand News: पिठौरिया में पुलिस के हाथ लगी कामयाबी, PLFI का उग्रवादी गिरफ्तार; पूछताछ में कबूली ये बात

पिठौरिया थाना क्षेत्र स्थित मुरैठा में रांची पुलिस ने छापेमारी कर एक पीएलएफआई के उग्रवादी सूरज महतो को गिरफ्तार किया और उसे जेल भेज दिया है। इस मामले में एसएसपी चंदन सिन्हा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि मुरैठा में कुछ उग्रवादी जुटे हुए हैं और आगजनी की घटना को अंजाम देने वाले हैं। इसको लेकर मुरैठा में छापेमारी अभियान चलाकर उग्रवादी को गिरफ्तार कर लिया।

By prince kumar Edited By: Shoyeb Ahmed Published: Sun, 31 Mar 2024 10:49 PM (IST)Updated: Sun, 31 Mar 2024 10:49 PM (IST)
Jharkhand News: पिठौरिया में पुलिस के हाथ लगी कामयाबी, PLFI का उग्रवादी गिरफ्तार; पूछताछ में कबूली ये बात
पुलिस ने पिठौरिया में पीएलएफआई का उग्रवादी किया गिरफ्तार (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, रांची। रांची पुलिस ने पिठौरिया थाना क्षेत्र स्थित मुरैठा में छापेमारी कर पीएलएफआई उग्रवादी सूरज महतो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

loksabha election banner

एसएसपी चंदन सिन्हा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि मुरैठा में कुछ उग्रवादी एकजुट हुए हैं और आगजनी की घटना को अंजाम देने वाले हैं। पिठौरिया थाना की पुलिस और क्यूआरटी की टीम द्वारा मुरैठा में छापेमारी किया गया।

पुलिस ने सूरज महतो को किया गिरफ्तार

पुलिस ने सूरज महतो को गिरफ्तार किया लेकिन एरिया कमांडर कृष्णा यादव, रंजन महतो और बब्लू गंझु फरार हो गए। पुलिस ने सूरज के पास से एक पिस्टल, 15 गोली, दो मोबाइल, नक्सली पर्चा और एक बैग बरामद किया है।

पूछताछ में आरोपित सूरज ने बताया कि पिठौरिया और अन्य इलाकों में कई क्रशर कारोबारी और अन्य कारोबारी से रंगदारी की मांग की गई थी। लेकिन उनके द्वारा रंगदारी नहीं दी जा रही था। इस वजह से क्रशर और कारोबारियों पर हमला करना था लेकिन इससे पहले पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

रंगदारी नहीं देने पर एक मार्च को सांगा में क्रशर में हुई थी आगजनी

पुलिस का कहना कि पीएलएफआई के उग्रवादियों द्वारा एक मार्च को हकीम अंसारी के क्रशर में आगजनी की घटना को अंजाम दिया गया था। सूरज ने पुलिस को बताया कि कारोबारी से पहले दस लाख रुपये की रंगदारी की मांग की गई थी। रंगदारी नहीं देने पर उसे जान से मारने की धमकी दी गई थी।

लेकिन वह संगठन को पैसा नहीं दे रहा था। इस वजह से उसके क्रशर पर हमला किया गया था। क्रशर पर हमला करने के बाद कई कारोबारी से रंगदारी की मांग की गई थी। लेकिन ज्यादातर कारोबारी पैसा नहीं दे रहे हैं। इस वजह से एरिया कमांडर कृष्णा के आदेश पर कई जगहों पर हमला करने की तैयारी थी।

हकीम के क्रशर पर हमला करने के दौरान कृष्णा मौजूद था। पुलिस का कहना है कि सूरज वर्ष 2019 से पीएलएफआई के लिए काम कर रहा है।

जंगी एप से आपस में बात करते हैं उग्रवादी

पुलिस की गिरफ्त में आया उग्रवादी सूरज ने बताया कि संगठन के लोग जंगी एप से एक दूसरे से बात करते हैं। एरिया कमांडर कृष्णा जंगी एप पर ही सदस्यों को आदेश देता है कि किस से रंगदारी की मांग करनी है और कहां घटना को अंजाम देना है।

क्या है जंगी एप

जंगी एप एक मैसेंजर एप है, जो कि सर्वर लेस बताया जाता है। इसमें की गई बातचीत का डेटा सिर्फ यूजर के मोबाइल पर स्टोर होता है। इस फीचर की वजह से इसे पूरी तरह से प्राइवेट एप माना जाता है।

रांची के एसएसपी चंदन सिन्हा का कहना है कि सूरज के खिलाफ पिपरवार, पिठौरिया और चान्हों थाना में सात मामले दर्ज हैं। पुलिस जल्द ही एरिया कमांडर कृष्णा समेत अन्य उग्रवादियों की गिरफ्तारी होगी। क्यूआरटी द्वारा ग्रामीण इलाकों में विशेष अभियान चलाया जा रहा है।

ये भी पढ़ें- 

Jharkhand News: धनबाद में ढुलू महतो और प्रिंस खान के खिलाफ FIR, सरयू राय के करीबी ने लगाए ये आरोप

Jharkhand News: कलेक्ट्रेट परिसर बना अखाडे़ का मैदान, CO-उप मुखिया के बीच जमकर हुई मारपीट; आधे घंटे चला ड्रामा


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.