जागरण संवाददाता, रांची। भाजयुमो की मोटरसाइकिल जुलूस में नारेबाजी के विरोध में रविवार को असामाजिक तत्वों का उपद्रव डेली मार्केट थाने के सामने दिखा। भाजयुमो कार्यकर्ताओं व पुलिस को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया था। वाहनों में तोड़-फोड़ की गई थी। जुलूस के स्कॉट में शामिल पुलिसकर्मियों को भी नहीं बख्शा गया। जिसे मौका मिला उसी ने लाठी व डंडे से पीटा। इसका वीडियो सोमवार को वायरल हो गया। वीडियो में लोअर बाजार थाने में पदस्थापित दारोगा अनिल कुमार गुप्ता की पिटाई करते हुए उपद्रवी दिख रहे हैं। उनकी मोटरसाइकिल गिरा दी गई थी।

उन पर लाठी और डंडे भी बरसाए गए। वर्दी भी फाड़ डाली। दारोगा अनिल कुमार किसी तरह वहां से जान बचाकर भागे। इससे पहले भाजयुमो कार्यकर्ताओं को भी भीड़ में शामिल लोगों ने लाठी-डंडों और लात घूंसों से मारा। भीड़ से बचने के लिए कार्यकर्ताओं को मौके से भागकर अपनी जान बचानी पड़ी। भागने के दौरान उनकी बाइक को एक व्यक्ति लेकर भाग रहा था। भागने के दौरान बाइक को किसी परिचित ने रोक कर सुरक्षित रखवाया। वायरल वीडियो के माध्यम से पुलिस मारपीट करने वालों की पहचान करने में जुटी है। वीडियो वायरल होने के बाद दारोगा अनिल कुमार ने एफआइआर दर्ज कराने के लिए डेली मार्केट थाने में आवेदन दिया है।

दारोगा को गिराकर चप्पल खोलकर मारा, चाभी खींची
वायरल वीडियो में दिखाई दे रहा है कि दारोगा को पहले एक उपद्रवी ने बाइक से खींच कर गिरा दिया। इसके बाद चप्पल खोलकर मारी। इसके बाद दूसरे व्यक्ति ने बाइक की चाभी खींच ली। इसके बाद बाइक लेकर वहां से भागने लगा। हालांकि बाइक को किसी तरह चोरी होने से बचाया गया।

डेली मार्केट थाने में तीन एफआइआर, 1000 बने आरोपित
मेन रोड में हुए बवाल मामले में डेली मार्केट थाने में तीन अलग-अलग एफआइआर दर्ज किए गए हैं। तीनों एफआइआर में चार नामजद समेत 1000 लोगों को आरोपित बनाया गया है। नामजद आरोपितों में मोहम्मद रफीक के ही नाम का खुलासा किया गया है। उसकी तलाश में छापेमारी भी शुरू कर दी गई। वहीं, अज्ञात आरोपितों की तलाश की जा रही है।

पहली एफआइआर लोअर बाजार थाने में पदस्थापित दारोगा अनिल कुमार गुप्ता ने दर्ज कराई है। इसमें कहा गया है कि एसएसपी के निर्देश पर भाजयुमो की जुलूस की सुरक्षा में लगे थे। सुरक्षा के दौरान जुलूस और समुदाय विशेष के लोगों के बीच झड़प हो गई। झड़प के दौरान दारोगा वहां पहुंचे तो उनपर हमला कर दिया गया। वर्दी फाड़ डाला गया। दारोगा से मारपीट मामले में चार आरोपितों को नामजद और करीब 50 अज्ञात को आरोपित बनाया गया है।

जानें, किसने क्या कहा
मैं अकेला था मेरे पास पिस्टल नहीं था, मुझे निहत्था देखकर मुझ पर हमला किया गया। मैंने किसी तरह अपनी जान बचाई, मेरी वर्दी फाड़ दी गई। मैंने घटना की जानकारी तुरंत वरीय अधिकारियों को दी, जब तक अतिरिक्त बल मौके पर पहुंचा तब तक उपद्रवी भाग चुके थे।
- अनिल कुमार गुप्ता, सब इंस्पेक्टर लोअर बाजार थाना।

---

नामजद आरोपियों की तलाश के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई है। अज्ञात लोगों की पहचान की जा रही है। पहचान होने के साथ ही इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस किसी भी स्थिति में अमन-चैन को बिगड़ने नहीं देगी। इसमें शहर के लोगों का सहयोग भी जरूरी है।
-अमन कुमार, सिटी एसपी, रांची। 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप