Move to Jagran APP

'संताल को मुर्शिदाबाद बनाने की तैयारी', हेमंत सरकार को लेकर ये क्या बोल गए BJP नेता; बढ़ेगी सियासी टेंशन!

नेता प्रतिपक्ष अमर बाउरी गुरुवार को जामताड़ा पहुंचे। उन्होंने भाजपा द्वारा नाला प्रखंड में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए हेमंत सोरेन की सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने राज्य सरकार पर तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि संताल को पश्चिम बंगाल की मुर्शिदाबाद बनाने में हेमंत सरकार जुटी है।

By Jagnath Bauri Edited By: Shashank Shekhar Thu, 11 Jul 2024 07:38 PM (IST)
नाला भंडारबेड़ा में विजय संकल्प सभा को संबोधित करते अमर बाउरी। फोटो- जागरण

संवाद सहयोगी, नाला(जामताड़ा)। गुरुवार को जामताड़ा के नाला प्रखंड क्षेत्र स्थित भंडारबेड़ा मैदान में भाजपा के बूथ स्तरीय कार्यकर्ता अभिनंदन सह विजय संकल्प सभा का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में झारखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और भाजपा नेता अमर बाउरी शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने प्रदेश की हेमंत सरकार पर जमकर निशाना साधा।

उन्होंने राज्य सरकार पर जुबानी हमला करते हुए कहा कि आदिवासियों के हित के नाम पर बनी हेमंत सरकार में अबतक आदिवासियों को भगाने और उनकी जमीन पर कब्जा करने के मामले ही सामने आ रहे हैं। इसी का परिणाम है कि साहिबगंज स्थित सिदो-कान्हू की जन्मस्थली भोगनाडीह में अब 40 की जगह सिर्फ छह आदिवासी परिवार ही घटकर रह गए हैं।

'बंगाल की तरह झारखंड में भी तुष्टीकरण की राजनीति'

अमर बाउरी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की तरह तुष्टीकरण की राजनीति झारखंड में भी चल रही है। एक साजिश के तहत पश्चिम बंगाल से सटे संताल परगना क्षेत्र को मुर्शिदाबाद बनाने की तैयारी चल रही है। संताल की बदल रही डेमोग्राफी से आदिवासी समाज और हिंदुओं के अस्तित्व पर खतरा मंडरा रहा है। हालांकि, सत्ता पक्ष के नेता और मुख्यमंत्री चुप्पी साधे बैठे हैं। यह साजिश को यहां की जनता और भाजपा बर्दाश्त नहीं करेगी।

उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में लूट-खसोट की सरकार को उखाड़ फेंकने की जरूरत है। प्रखंड स्तर से लेकर राज्य में व्याप्त भ्रष्टाचार तब खत्म होगा जब राज्य में डबल इंजन की सरकार आएगी। डबल इंजन सरकार के कार्यकाल में हजारों गरीब आदिवासी और दलित महिला-पुरुषों, मांझी-हड़ाम, नाइकी आदि पदधारक को सम्मान राशि देने का काम किया है।

अमर बाउरी ने कहा कि झारखंड में गठबंधन की सरकार ने पिछले 2019 के चुनाव में 1932 के खतियान के आधार पर पांच हजार बेरोजगार युवाओं नौकरी, पांच से सात हजार रुपये का बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा कर अपना वादा भूल चुकी है।

'हेमंत जेल से निकलते ही सत्ता पर हो गए काबिज'

चंदनकियारी विधायक अमर बाउरी ने कहा कि जिन्होंने सत्ता से आने के पहले वादा किया था कि सत्ता में आने के बाद शिक्षित बेरोजगार युवाओं को पांच लाख नौकरी देंगे और बेरोजगारी भत्ता देंगे। ऐसा ना कर सके तो राजनीति से संन्यास ले लेंगे। वही व्यक्ति संन्यास लेने की बजाय जेल से निकलते ही महज पांच दिन के अंदर ही सीएम की गद्दी पर दोबारा से काबिज हो गया।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि सत्ता के लालची लोगों से राज्य का भला नहीं हो सकता। उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं को भ्रष्टाचारी गठबंधन को उखाड़ फेंकने का संकल्प दिलाया। लोकसभा चुनाव में नाला की जनता ने 22 हजार मतों से भाजपा को बढ़त दिलाकर उनकी दबंगई निकालने का काम किया है।

इस अवसर पर भाजपा प्रदेश मंत्री दुर्गा मरांडी, पूर्व कृषि मंत्री सह पूर्व विधायक सत्यानंद झा, लोक सभा से भाजपा प्रत्याशी रहीं सीता सोरेन, बीरेंद्र मंडल, जिला अध्यक्ष सुमीत शरण, भाजपा नेता माधव चंद्र महतो, जिला परिषद अध्यक्ष राधारानी सोरेन व सैंकड़ों भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

ये भी पढ़ें- 

Jharkhand Politics: 'संताल के साथ कोल्हान में भी बदल रही डेमोग्राफी', घुसपैठ पर नेता प्रतिपक्ष का बड़ा बयान

'खतरे में आदिवासियों का अस्तित्व', बाबूलाल ने हेमंत सोरेन से कर दी बड़ी मांग; क्या कर पाएंगे पूरा?