जमशेदपुर (जासं) । झारखंड अलग राज्य के आंदोलन में अग्रणी भूमिका निभाने वाले शहीद निर्मल महतो के 33वीं शहादत दिवस आठ अगस्त को सभा का आयोजन नहीं किया जाएगा। ऐसा निर्णय कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। इस संबंध में बुधवार को उलियान, कदमा स्थित समाधि स्थल के निकट झारखंड मुक्ति मोर्चा पूर्वी सिंहभूम जिला समिति की बैठक हुई। मौके पर शहीद निर्मल महतो की 33वीं शहादत दिवस पर शारीरिक दूरी का अनुपालन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित करने का निर्णय लिया गया। चामरिया गेस्ट हाउस और उलियान स्थित समाधि स्थल पर शहादत दिवस मनाया जाएगा, लेकिन कोई सभा नहीं होगी और श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए कोई किसी का इंतजार नहीं करेंगे। इसके लिए किसी बड़े नेता को भी नहीं बुलाया जाएगा।

बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए पार्टी के जिलाध्यक्ष सह विधायक रामदास सोरेन ने कहा कि पूरे देश में करोना महामारी का प्रकोप है। इसको ध्यान में रखते हुए पार्टी ने आठ अगस्त को सुबह 11:45 बजे बिष्टुपुर स्थित चमरिया गेस्ट हाउस में शहीद निर्मल महतो की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद दिन के 1:30 बजे कदमा के उलियान स्थित शहीद निर्मल महतो की समाधि पर श्रद्धांजलि अर्पित करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही झामुमो के सभी जिला, प्रखंड, नगर, वार्ड, पंचायत कमेटी के साथ छात्र, महिला, युवा समेत अलग-अलग प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों को अपने-अपने की जाएगी साथ ही साथ सभी प्रखंड कमेटी नगर कमेटी पंचायत एवं शाखा कमेटियां अपने अपने क्षेत्र में कार्यालयों में अपने स्तर पर शहादत दिवस मनाने के लिए कहा गया है, ताकि उलियान में अधिक भीड़ एकत्रित ना हो।

मौके पर ईचागढ़ के विधायक सविता महतो, जुगसलाई के विधायक सह विधानसभा में सत्ताधारी दल के सचेतक मंगल कालिंदी, पोटका के विधायक संजीव सरदार, बहरागोड़ा के विधायक समीर महंती, पूर्व सांसद सुमन महतो, केंद्रीय सचिव आस्तिक महतो, शेख बदरुद्दीन, प्रमोद लाल, मनोज यादव, लालटू महतो, कबलू महतो, कालीपद गोराई, प्रीतम हेंब्रम, गोपाल महतो, गुरमीत सिंह गिल समेत कई लोग उपस्थित थे।

Posted By: Vikas Srivastava

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस