जमशेदपुर : दूध हमारे लिए परमावश्यक है। इसके बिना हम लगभग अधूरा सा महसूस करते हैं। यह समग्र शरीर के विकास में सहायक है जिसे पीने में हमे कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। यह कैल्शियम, मैग्नीशियम, जिंक, राइबोफ्लेविन और कई प्रोटीन और विटामिन जैसे सूक्ष्म प्रोषक तत्वों से भरपूर एक अच्छा ड्रिंक है। यह एक बर्सटाइल बेवरेज भी है जिसका सेवन कई तरह सेे किया जा सकता है।

ठंडा या गर्म, कौन सा दूध आप पसंद करते हैं

आमतौर पर ज्यादातर लोग गर्म दूध पीना पंसद करते हैं तो वहीं कुछ ऐसे भी हैं जिन्हें दूध को ठंडा करके पीना अच्छा लगता है। बहरहाल, यहां हमें ठंडा और गर्म दूध पीने से कौन-कौन लाभ मिल सकते हैं। इसके बारे में बताया जाएगा तथा कौन सा ज्यादा बेहतर है उस पर प्रकाश डाला जाएगा।

सोने से पहले गर्म दूध पीने के लाभ

रात में गर्म दूध का सेवन करने से अनिंद्रा की समस्या दूर होती है। दूध में एक एमिनो एसिड होता हैे जिसे ट्रिप्टोफैन के रूप में जाना जाता है जो नींद लाने मे सहायता करता है। गर्म दूध में चेहरे के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने की प्रवृत्ति होती है। यह चेहरे की चमक को बढ़ाने में मदद करता है ।

ठंडा दूध पीने से लाभ

ठंडा दूध एक बेहतरीन क्लींजर है जो स्किन को साफ और टोनिंग करते समय आवश्यक प्रोटीन प्रदान करता है। ठंडा दूध इलेक्ट्रोलाइट्स से भरा होता है और दिन के दौरान हमारे शरीर को हाइड्रेट और ऊर्जावान बनाए रखने का काम करता है।

सुबह एक ग्लास ठेडा दूध पीने से हम पूरे दिन ऊर्जावान रह सकते हैं। इसलिए हम इसे एनर्जी बूस्टर भी कहते हैं।

दूध में कैल्शियम की अधिक खुराक होती है जिससे मेटाबॉलिज्म् को बढ़ावा मिलता है जो बदले में हमें कैलोरी को बर्न करने में मदद कर सकता है। ठंडे दूध में अधिक मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है जो एसिड बिल्डअप को कम करता है और इससे एसिडिटी दूर हो जाती है।

 

शरीर को नमी से बचाता है गर्म दूध

गर्म दूध शरीर को नमी से बचा सकता है। इसे ठंड के दिनों में शरीर के आंतरिक तापमान को बढ़ाने के लिए लिया जा सकता है। चाय या कॉफी के रूप में गर्म दूध पीने से हमें सुबह में ऊर्जा मिलती है। यह रक्तचाप को कम करने मे मदद करता है। दूध में पोटोशियम भी होता है जो मांसपेशियों को आराम देने में मदद करता है। यह मांसपेशियों के तनाव और तनावग्रस्त नसों को सामान्य करेन में मदद करता है। गर्म दूध महिलाओं में पीएमएस के लक्षणें को कम करने के लिए भी जाना जाता है।

Edited By: Jitendra Singh