Move to Jagran APP

अनाज नहीं देने पर भड़के ग्रामीण, डीलर को दी ऐसी सजा; अब जिंदगी भर रहेगी याद

झारखंड के गोड्डा से अजीबोगरीब मामला सामने आया है जहां अनाज नहीं मिलने पर भड़के ग्रामीण ने डीलर को पेड़ से बांध दिया। आरोप है कि उस डीलर ने तीन महीने से ग्रामीणों को अनाज नहीं दिया। ऐसे में अनाज के बदले नकद राशन देने के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने डीलर को छोड़ा। अब इस मामले में डीएसओ ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

By Vidhu Vinod Edited By: Shashank Shekhar Mon, 22 Apr 2024 08:47 PM (IST)
अनाज नहीं देने पर भड़के ग्रामीण, डीलर को दी ऐसी सजा; अब जिंदगी भर रहेगी याद (सांकेतिक तस्वीर)

जागरण संवाददाता, गोड्डा। गोड्डा सदर प्रखंड की नुनबट्टा पंचायत के डीलर खगेंद्र महतो को ग्रामीणों ने सोमवार को करीब छह घंटे तक पेड़ से बांध कर रखा। डीलर पर आरोप है कि उसने बीते तीन माह का अनाज किसी भी कार्डधारियों को नहीं दिया है। ग्रामीण अनाज के लिए बार बार डीलर के घर जाते और अनाज की मांग करते।

ग्रामीणों का आरोप है कि डीलर ने खाद्यान्न का उठाव कर उसे कालाबाजार में बेच दिया है। ग्रामीणों ने डीलर की दुकान और गोदाम की भी जांच की जहां अनाज का एक दाना भी नहीं मिला। अनाज नहीं मिलने पर डीलर की ओर से प्रत्येक कार्डधारी को अनाज के लिए नगद राशि देने का वादा किया तब जाकर आरोपित डीलर खगेंद्र महतो को ग्रामीणों ने मुक्त किया।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि जिले में राशन की कालाबाजारी की यह कोई नई घटना नहीं है। हाल के दिनों में जिला आपूर्ति पदाधिकारी की ओर से पाेड़ैयाहाट के तीन डीलरों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीं, मेहरमा प्रखंड में भी कालाबाजारी के लिए जा रहे चावल को ग्रामीणों ने जब्त कर अंचलाधिकारी और प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी से कार्रवाई के लिए आवेदन दिया था।

बाद में अधिकारियों ने इसकी जांच की। दुकानदार के स्टॉक का मिलान किया गया, जिसमें खाद्यान्न कम पाया गया। कार्डधारियों को निर्धारित मात्रा से कम राशन देने, दुकान का संचालन नियमानुसार नहीं करने सहित कई गंभीर आरोप आए दिन यहां के डीलरों पर लगता रहा है।

ग्रामीणों ने मामले को लेकर क्या कुछ कहा

इधर, नुनबट्टा के ग्रामीणों का कहना है कि कई गरीब व अशिक्षित कार्डधारियों को यह कहकर पूरे माह का राशन टपा दिया जाता है, कि राशन आया ही नहीं है, जबकि जांच में राशन उठाव की पुष्टि होती है और स्टॉक मिलान में अनाज नहीं पाया जाता है।

डीलर की ओर से राशन कार्ड में चुपके से राशन वितरण की मात्रा अंकित कर दी जाती है। यह खेल पूरे जिले में चल रहा है। ग्रामीणों ने इसके खिलाफ विभागीय स्तर पर प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की है।

नुनबट्टा में डीलर खगेंद्र महतो के खिलाफ शिकायत मिली है। उनके स्टॉक की ऑनलाइन जांच कराई जा रही है। ग्रामीणों की ओर से डीलर को पेड़ से बांधने की सूचना नहीं मिली है। इसकी शिकायत डीलर ने भी नहीं की है। पूरे मामले की जांच कर दोषियों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। - श्रवण राम, डीएसओ, गोड्डा।

ये भी पढ़ें- 

एक कुल्हाड़ी से तीन हत्या... बेटे ने पिता की हत्या कर भाभी का काटा गला; बचाने आए लोगों पर भी किया वार

Babulal Marandi : 'भ्रष्टाचार में दोनों सहोदर भाई...', कांग्रेस-JMM को लेकर अब ये क्या बोल गए बाबूलाल मरांडी