Move to Jagran APP

Godda Road Accident : गोड्डा में पेड़ से टकराई तेज रफ्तार बाईक, दो युवकों की मौत; इलाके में पसरा मातम

Godda Road Accident झारखंड के गोड्डा में दर्दनाक सड़क हो गया। इस हादसे में दो युवकों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि दोनों बाइक सवार युवक नशे में धुत्त थे। इस घटना को लेकर गांव में मातम पसरा हुआ है। जानकारी के अनुसार गाड़ी तेज रफ्तार में थी और अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकराई जिसके चलते दोनों गंभीर रूप से जख्मी हो गए।

By Vidhu Vinod Edited By: Shashank Shekhar Sat, 27 Apr 2024 01:05 PM (IST)
Godda Road Accident : गोड्डा में पेड़ से टकराई तेज रफ्तार बाईक, दो युवकों की मौत (सांकेतिक तस्वीर)

संवाद सहयोगी, मेहरमा (गोड्डा)। गोड्डा के मेहरमा प्रखंड अंतर्गत घोरीचक-बोआरीजोर मुख्य मार्ग पर भुस्का हाट के नजदीक सड़क हादसे में दो युवक की मौत हो गई है। मृतक शिव चरण साह और सनोज मिर्धा भलुआ गांव के ही रहने वाले थे। गांव के दो नवयुवकों की मौत से सन्नाटा पसरा हुआ है।

जानकारी के अनुसार, भलुआ गांव के 24 वर्षीय शिवचरण साह और पड़ोसी 19 वर्षीय सनोज मिर्धा दोनों दोस्त घोरीचक से शुक्रवार देर रात बाइक पर सवार होकर वापस गांव लौट रहे थे। भुस्का हाट के नजदीक बाइक असंतुलित होकर सड़क किनारे मिट्टी के ढेर से टकराते हुए पास के वृक्ष से जा टकराई, जिससे दोनों गंभीर रूप से जख्मी हो गए।

घटना के संबंध में ग्रामीणों ने क्या कहा

ग्रामीणों के अनुसार, दोनों शराब के नशे में धुत्त थे। सूचना पर पुलिस अवर निरीक्षक विधान पटेल ने दोनों को स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां सनोज मिर्धा को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं, शिवचरण साह को प्राथमिक उपचार के पश्चात बेहतर इलाज के लिए जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल भागलपुर रेफर किया गया, जहां उसकी भी मौत हो गई।

शनिवार की सुबह दोनों के शव को थाना लाकर आवश्यक कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद अंत्यपरीक्षण हेतु जिला मुख्यालय स्थित सदर अस्पताल भेज दिया गया।

मामले को लेकर पुलिस ने क्या कुछ कहा 

थाना प्रभारी नीतीश अश्विनी और पुलिस अवर निरीक्षक विधान पटेल ने बताया कि दोनों युवक भलुआ गांव के रहने वाले थे। देर रात दोनों बाइक से वापस घर लौट रहे थे। रास्ते में भुस्का हाट के नजदीक हादसे में दोनों की मौत हो गई। दोनों में से किसी ने भी हेलमेट नहीं पहनी थी।

उन्होंने बताया कि सनोज मिर्धा के पास पहचान से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई कागजात नहीं है। अब तक उसका आधार कार्ड भी नहीं बना है। ऐसे में उसे सरकारी प्रविधान के तहत मुआवजा उपलब्ध कराने में परेशानी हो सकती है।

मिली जानकारी के अनुसार, सनोज मूल रूप से साहिबगंज के जिरवाबाड़ी का रहने वाला था। बचपन से ही वह भलुआ गांव में अपने नाना के घर रहता था। तीन भाई और एक बहन में वह दूसरे नंबर का था। वहीं, शिवचरण साह चार भाई में तीसरे नंबर का था। उसके पिता लकवा से पीड़ित हैं, जो बेड पर ही पड़े रहते हैं

ये भी पढ़ें- 

Hemant Soren : हेमंत सोरेन के मामले में फैसला सुरक्षित, जमानत को लेकर ED कोर्ट से लगाई थी गुहार

Ranchi School Bus Accident : रांची में स्कूल बस पलटी, 15 बच्चे घायल; अभिभावकों ने लगाया ये आरोप