मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

गोड्डा, जासं। धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने और चर्च बनाने के नाम पर 60 बीघा जमीन पर अवैध कब्जा जमाने के मामले में पुलिस ने शनिवार को राजदाहा चर्च के फादर विनोज वीजे और पिपरजोरिया निवासी मुन्ना हांसदा को गिरफ्तार किया। वहीं एक अन्य आरोपित ग्राम प्रधान राजमेश्वर ठाकुर व चार्लिस हांसदा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

शनिवार को एसपी शैलेंद्र प्रसाद वर्णवाल ने बताया कि चार सितंबर को राजदाहा के कुछ ग्रामीणों ने बताया था कि राजदाहा चर्च के फादर सहित चार लोग उन पर सरना धर्म त्याग कर ईसाई धर्म अपनाने के लिए लगातार दबाव बन रहे हैं। इसके लिए लगातार प्रलोभन और धमकी भी दे रहे हैं। इस शिकायत की जांच का जिम्मा देवडांड़ के थाना प्रभारी को दिया गया।

जांच में ग्रामीणों का आरोप सही पाया गया। इसके बाद ग्रामीण लखीराम बेसरा के आवेदन पर देवडांड़ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई। पुलिस ने दो आरोपितों को धर दबोचा जबकि दो अभी पकड़ से बाहर हैं। उन्हें भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। गिरफ्तार फादर केरल का रहनेवाला है।

ग्रामीणों ने डीसी-एसपी को दिया था अलग-अलग आवेदन

इससे पहले डीसी किरण कुमारी पासी के निर्देश पर एसडीओ संजय कुजूर व सीओ प्रदीप कुमार शुक्ला ने स्थल निरीक्षण किया गया। ग्र्रामीणों ने डीसी-एसपी को पूरे मामले को लेकर अलग-अलग आवेदन देते हुए आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। उस दौरान एसडीओ ने भी बताया कि गरीब आदिवासी पर जबरन धर्मांतरण का दबाव बनाकर उनकी जमीन पर कब्जा किया जा रहा है।

जमीन को खाली कराते हुए राजदाहा के फादर, ग्राम प्रधान सहित अन्य पर कार्रवाई की अनुशंसा की गई। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव को भी ज्ञापन दिया है। मुखिया रविंद्र बेसरा ने भी ग्रामीणों की शिकायत को सही करार दिया था।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप