Move to Jagran APP

झारखंड में 18 साल की लड़की की नृशंस हत्या! मर्डर के बाद शव को केमिकल से जलाया, ऐसे खुला रहस्य

Dumka Murder Case दुमका में पुलिस ने बरमासा जंगल से 18 वर्षीय युवती का कंकाल बरामद किया है। जानकारी के मुताबिक शव को किसी केमिकल डालकर जलाया गया है। घरवालों ने कपड़ों से शव की शिनाख्त की है। मृतका 25 अप्रैल को घर से लापता थी। लापता होने की प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। घटना की सूचना मिलने के बाद गांव में सनसनी फैल गई।

By Anoop Kumar Srivastava Edited By: Shashank Shekhar Published: Mon, 29 Apr 2024 09:33 PM (IST)Updated: Mon, 29 Apr 2024 09:33 PM (IST)
झारखंड में 18 साल के लड़की की नृशंस हत्या! मर्डर के बाद शव को केमिकल से जलाया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

संवाद सहयोगी, बासुकीनाथ (दुमका)। Dumka Murder Case दुमका के तालझारी थाना की पुलिस ने सोमवार की शाम बरमासा जंगल से 18 वर्षीय युवती का कंकाल बरामद किया है। हत्या करने के बाद शव को किसी केमिकल डालकर जलाया गया है। सिर पर बाल के अलावा शरीर में केवल हड्डी ही बची है।

घरवालों ने कपड़ों से शव की शिनाख्त की। मृतका जानकी कुमारी बरमासा गांव की रहने वाली थी और 25 अप्रैल को घर से लापता थी। पिता ने लापता होने की प्राथमिकी भी दर्ज कराई थी।

सोमवार की दोपहर तीन बजे के करीब गांव के लोग जंगल की ओर से गुजर रहे थे तो उनकी नजर खुले मैदान में पड़े शव पर गई। युवती के शरीर में केवल हड्डी बची थी। पूरा शरीर कंकाल बन चुका था। शव मिलने की खबर सुनकर पूरा गांव दौड़कर आ गया।

ग्रामीणों के बीच सुरेंद्र राणा भी मौके पर पहुंचे और कपड़े देखकर शव की शिनाख्त अपनी बेटी के रूप में की। थाना प्रभारी अजीत कुमार यादव ने स्थल पर जाकर शव कब्जे में लिया। शव के समीप से पुलिस को तेल की एक शीशी है और कपड़ों पर किसी चीज के जलने के निशान मिले हैं।

शादी तय होने के बाद तीन से लापता थी जानकी

पिता ने पुलिस को बताया कि बेटी की शादी तय हो चुकी थी, लेकिन अभी तिथि निर्धारित नहीं हुई है। 25 अप्रैल को वह घर से लापता हो गई। हर जगह तलाश करने के बाद भी उसका पता नहीं चला। पिता के बयान पर पुलिस ने उसी दिन युवती के गायब होने का मामला दर्ज किया। पुलिस उसकी सकुशल बरामदगी करती, उससे पहले उसका कंकाल मिल गया।

केमिकल डालकर शव को जलाने की आशंका

पुलिस को जिस जगह से शव मिला है। वहां आग जैसा कोई कुछ नहीं मिला, लेकिन उसके कपड़ें पर काले जलने के जैसे निशान जरूर दिखे। शव के समीप लगे पेड़ पर किसी तरह के जलने का निशान नहीं मिला है। पुलिस का भी मानना है कि चार दिन से लापता युवती का शव कंकाल नहीं बन सकता है। शव की पहचान नहीं हो, इसलिए शव को किसी चीज से जलाने का प्रयास किया गया है।

जंगल से युवती का शव मिला है। कपड़ों से पिता ने शव की शिनाख्त की है। वह 25 अप्रैल से लापता थी। चार दिन में शव कंकाल में तब्दील नहीं हो सकता। हत्या के बाद शव को जलाने की अधिक संभावना है। मामले की छानबीन की जा रही है।- संतोष कुमार, एसडीपीओ, जरमुंडी

ये भी पढ़ें- 

कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही तोड़े अवैध निर्माण, झारखंड हाईकोर्ट का आदेश

Jharkhand Board: शिक्षा विभाग के फैसले ने बच्चों की बढ़ाई टेंशन! अब एडमिशन के लिए भटक रहे इधर-उधर


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.