जागरण संवाददाता, धनबाद : मई से झारखंड, बिहार और बंगाल की कई ट्रेनें पटरी पर फिर से दौड़ने वाली हैं। एक मई से धनबाद-टाटा स्वर्णरेखा एक्सप्रेस चलेगी। दो मई से आसनसोल-टाटा मेमू मेमू चलने लगेगी। इसके साथ ही तीन मई से नेपाल बार्डर तक ले जानेवाली हावड़ा- जयनगर एक्सप्रेस प्रतिदिन चलेगी। तीनों ट्रेनों को चलाने का आदेश जारी हो गया है। धनबाद-टाटा स्वर्णरेखा के टाइम टेबल और ठहराव में बड़े बदलाव हुए हैं। एक मई से चलने वाली स्वर्णरेखा एक्सप्रेस के लिए गुरुवार को रैक धनबाद पहुंच चुका है। इस ट्रेन में जनरल कोच के साथ एक एसी चेयर कार और एसएलआरडी भी जुड़ेगा। आसनसोल-टाटा मेमू और हावड़ा-जयनगर एक्सप्रेस पुराने टाइम टेबल और ठहराव के मुताबिक ही चलेंगी। आसनसोल टाटा मेमू आसनसोल से सुबह 8:25 पर खुलकर दोपहर 1:30 पर टाटा पहुंचेगी। वापसी में टाटा से चलने वाली ट्रेन सुबह 8:25 पर खुलकर दोपहर 1:30 पर आसनसोल पहुंचेगी। इस ट्रेन से आद्रा, पुरुलिया, चांडिल, आदित्यपुर समेत इस रूट के सभी स्टेशनों के यात्रियों को आवाजाही के लिए पैसेंजर ट्रेन मिल जाएगी। 13031 हावड़ा-जयनगर एक्सप्रेस अभी हावड़ा से सिर्फ सोमवार और वापसी में 13032 जयनगर-हावड़ा एक्सप्रेस मंगलवार को चलती है। गर्मी की छुट्टियों के दौरान उत्तर बिहार जानेवाले यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी हो गई है। इसके मद्देनजर रेलवे ने जयनगर जानेवाली ट्रेन के फेरे में बढ़ोतरी की गई है। हावड़ा से तीन मई से यह ट्रेन रोज चलेगी। वापसी में चार मई से जयनगर से हर दिन चलेगी। 

सिर्फ जनरल कोच के साथ चलेगी हावड़ा-जयनगर एक्सप्रेस

हावड़ा-जयनगर एक्सप्रेस 25 घंटे में अपना सफर पूरा करेगी। हावड़ा से जयनगर के बीच 111 स्टेशनों पर इस ट्रेन का ठहराव होगा। हावड़ा से बर्द्धमान और रामपुरहाट होकर पाकुड़, बड़हरवा, तीनपहाड़, साहिबगंज, मिर्जाचौकी, पीरपैंती, कहलगांव, भागलपुर, सुल्तानगुज, जमालपुर, किउल, लखीसराय, बरौनी, समस्तीपुर और दरभंगा हाकर जयनगर जाएगी। इतने लंबे रूट पर चलने के बाद भी इस ट्रेन में सिर्फ जनरल कोच ही जुड़ेंगे। 

Edited By: Atul Singh