धनबाद, जागरण संवाददाता: धनबाद के आशीर्वाद अपार्टमेंट में मंगलवार शाम भीषण आग लग गई। हादसे में झुलसने से अब तक 14 लोगों की जान जा चुकी है। इसके अलावा दो दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गये हैं। इस बात की आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या इजाफा हो सकता है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने जताया शोक

हादसे के बारे में मुख्यमंत्री हेमंत सोरन ने जानकारी देते हुए ट्वीट करते हुए लिखा कि धनबाद के आशीर्वाद टावर अपार्टमेंट में आग लगने से लोगों की मृत्यु अत्यंत आहत करने वाली है। जिला प्रशासन द्वारा युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है तथा हादसे में घायल लोगों को उपचार उपलब्ध कराया जा रहा है। मैं खुद पूरे मामले को देख रहा हूँ।

हादसे पर दुख जताते हुए मुख्यमंत्री ने एक और ट्वीट किया करते हुए लिखा कि परमात्मा दिवगंत आत्माओं को शांति प्रदान कर शोकाकुल परिवारों को दुःख की विकट घड़ी सहन करने की शक्ति दे। घायलों को शीघ्र चिकित्सा उपलब्ध कराने के लिए हर संभव कार्य किया जा रहा है।

मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका

आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। घायलों का पाटिलिपुत्र नर्सिंग होम और एसएनएमसीएच में इलाज चल रहा है। फायर ब्रिगेड की टीम ने बड़ी मशक्कत के बाद अपार्टमेंट में लगी आग बुझाने में सफलता पाई।

अब तक तीन बच्चे, दस महिला और एक व्यक्ति की हुई मौत

आग लगने से अपार्टमेंट में भगदड़ मच गई। लोगों ने भागने की कोशिश की लेकिन आग काल बनकर उन पर टूट पड़ी। इस हादसे में एक व्यक्ति, तीन बच्चे और दस महिलाओं की अब तक जान जा चुकी है। हादसे में पाटिलपुत्र नर्सिंग होम में 18 घायलों को भर्ती कराया गया था और 14 शव एसएनएमसीएच में भेजे गए हैं।

अपार्टमेंट के सुबोध श्रीवास्तव की बेटी की शादी में जुटे थे मेहमान

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जिस अपार्टमेंट में आग लगी है, उसमें रहने वाले सुबोध श्रीवास्तव की बेटी की शादी थी। विवाह समारोह में भाग लेने के लिए बाहर से भी लोग आए थे। कोडरमा से बारात आने वाली थी। परिवार समेत अपार्टमेंट के लोग शादी की तैयारी में लगे हुए थे।

जलता दीपक कालीन पर गिरने से लगी आग

इसी दौरान निचले फ्लोर में रहने वाले पंकज अग्रवाल के घर जलता दीपक कालीन पर गिर गया। कुछ ही देर में कालीन ने आग पकड़ ली। आग भड़कती गई और देखते ही देखते ऊपरी मंजिल को भी अपनी चपेट में ले लिया। आग लगते ही लोगों में भगदड़ मच गई। लोगों ने भागने की कोशिश की लेकिन आग काल बनकर उन पर टूट पड़ी।

कुछ दिन पहले ही हाजरा अस्पताल में लगी थी आग

बता दें कि कुछ ही दूर पर स्थित हाजरा अस्पताल में तीन दिन पहले आग लगने से डॉक्टर दंपती समेत पांच लोगों की दम घुटने से मौत हुई है। उसके अब ये हादसा हो गया।

इस घटना में हजारीबाग की रहने वाली 52 साल की सुशीला देवी, चार वर्षीय तन्नू कुमारी। तन्नू के चाचा अशोक ने बताया कि वे शादी समारोह में शामिल होने आए थे। इस हादसे ने मेरा परिवार ही उजाड़ दिया।

यह भी पढ़ें: Dhanbad: युवक की मौत से गुस्साई भीड़ ने 10 घरों में लूटपाट कर लगाई आग, बुलानी पड़ी कई थानों की पुलिस

यह भी पढ़ें: Ranchi: भाजपा विधायक समरी लाल को हाईकोर्ट से मिली बड़ी राहत, जाति प्रमाण पत्र रद्द करने के आदेश को किया निरस्त

यह भी पढ़ें: खतियान संबंधी विधेयक लौटाने पर बोले CM हेमंत सोरेन- राज्यपाल की आपत्तियों को दूर करने का करेंगे प्रयास

Edited By: Mohit Tripathi