जम्मू, जागरण संवाददाता : बाबा तालाब-शामाचक वेल्फेयर कमेटी के प्रधान दर्शन मेहरा ने सरकार से कहाकि धार्मिक बाबा तालाब का जल स्तर बनाए रखने के लिए गंभीरता से उपाय किए जाएं।

बैठक में उन्होंने कहा कि झीडी मेले में आने वाले श्रद्धालु इसी तालाब में स्नान करते हैं और फिर बाबा जित्तो के दर्शन करते हैं। लेकिन तालाब में पानी स्तर लगातार गिर रहा हे। हालांकि छोटी सी पाइप से इस तालाब को फ्रैश पानी का जरिया दिया गया है। लेकिन यह विशालकाय तालाब के लिए नाकाफी है। हालांकि इस स्थल के आसपास का क्षेत्र पक्का किया गया है और यह कदम तारीफ के काबिल है। लेकिन जिस तालाब में लोग स्नान करने के लिए आते हैं, में पानी तो पर्याप्त होना चाहिए। इसलिए यहां पर अलग से दो तीन पंप सेट लगाए जाने की जरूरत है ताकि पानी में जल स्तर हमेशा बराबर रहे।

तीन साल पहले जलस्तर कम रहने से पानी के अंदर आक्सीजन कम हो गई। इससे बड़ी संख्या में मछलियां मारी गई थी। यह स्थिति दोबारा न उत्पन्न हो, इस दिशा में काम होना चाहिए।

वहीं कमेटी के सदस्यों ने कहा कि बाबा तालाब में लोगों की भरपूर आस्था है। यहां पल रही मछलियों को लोग देवता का रूप मानते हैं। ऐसे में इन मछलियों को पानी में उचित वातारण मिल सके, इसका ध्यान रखा जाना चाहिए। तालाब परिसर पर पर्यावरण को बनाए रखना हम सबका पहला काम होना चाहिए।

वहीं कमेटी के सदस्यों ने बाद में बाबा तालाब क्षेत्र का दौरा किया और यहां चल रहे विकास कार्यों का भी जायजा लिया। दर्शन मेहरा ने कहा कि झीड़ी मेले का समय भी नजदीक आने लगा है। ऐसे में प्रशासन से गुजारिश है कि बाबा तालाब की तरफ ध्यान दिया जाए और तालाब में पानी का स्तर बनाए रखने के लिए काम किया जाए। इसके लिए एक कमेटी का भी गठन किया जा सकता है। 

Edited By: Rahul Sharma