Move to Jagran APP

Jammu News: कांग्रेस प्रदेश प्रधान विकार रसूल के खिलाफ बढ़ रहा असंतोष, कार्यप्रणाली पर सवाल उठा रहे पार्टी के नेता

Jammu Kashmir News जम्मू कश्मीर में कांग्रेस प्रदेश प्रधान विकार रसूल के खिलाफ पार्टी में असंतोष बढ़ रहा है। विकार रसूल को प्रदेश प्रधान पद से बदलने की मांग भी उठाई। चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी के कई नेताओं के निशाने पर चले रहे विकास रसूल के नेतृत्व में अब पार्टी दोनों संसदीय सीटें हार चुकी है। पार्टी के नेताओं ने हाईकमान को पत्र भी लिखा है।

By satnam singh Edited By: Himani Sharma Published: Sun, 09 Jun 2024 01:34 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 01:34 PM (IST)
Jammu Kashmir News: कांग्रेस प्रदेश प्रधान विकार रसूल के खिलाफ बढ़ रहा असंतोष (फाइल फोटो)

राज्य ब्यूरो, जम्मू। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान विकार रसूल (Vikar Rasool) के खिलाफ पार्टी में असंतोष बढ़ रहा है। पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने हाईकमान को पत्र लिखकर विकार रसूल की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह लगाया है।

साथ ही विकार रसूल को प्रदेश प्रधान पद से बदलने की मांग भी उठाई। चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी के कई नेताओं के निशाने पर चले रहे विकास रसूल के नेतृत्व में अब पार्टी दोनों संसदीय सीटें हार चुकी है।

कांग्रेस के नेताओं को लिखे गए पत्र

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रधान मल्लिकार्जुन खरगे , कार्यकारी समिति के सदस्य तारिक हमीद करा व कुछ नेताओं को पत्र लिखे गए हैं। पत्र लिखने वाले अधिकर नेता कश्मीर संभाग से संबंधित है। इनमें सोपोर के पूर्व विधायक व पार्टी के वरिष्ठ नेता हाजी रशीद, आठ महासचिव, दो उप प्रधान ने हाईकमान को पत्र लिखे हैं। इनमें पार्टी के नेताओं को प्रचार में नजरअंदाज करने का आरोप लगाया है।

वरिष्‍ठ नेताओं को किया गया नजरअंदाज: हाजी रशीद

हाजी रशीद जो पार्टी के वरिष्ठ उप प्रधान ने पत्र में कहा कि प्रचार के दौरान वरिष्ठ नेताओं को नजरअंदाज किया गया। चुनाव प्रचार से संबंधित कोई बैठक नहीं की गई। कुल मिलाकर पत्रों में विकार रसूल की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह लगाए गए है। सूत्र बताते हैं कि भले ही विकार रसूल के खिलाफ आरोप लगाने वालों में अधिकतर नेता कश्मीर के हैं लेकिन जम्मू के भी चंद नेता है जो खुद आगे नहीं आए हैं।

यह भी पढ़ें: Water Crisis in Jammu: कई इलाकों में नहीं आ रहा है पीने लायक पानी, शिकायत के बावजूद जल शक्ति विभाग नहीं कर रहा समाधान

विकार रसूल को 2022 में प्रदेश कांग्रेस कमेटी का बनाया गया था प्रधान

इस संबंध में विकार रसूल ने ऐसे सभी आरोपों को बेबुनियाद करार देते हुए कहा कि जब कश्मीर में पार्टी चुनाव ही नहीं लड़ रही थी तो नेताओं को नजरअंदाज करने का सवाल कैसे पैदा होता है। वह सारे मुद्दों के जवाब राष्ट्रीय प्रधान को दे चुके हैं। उन्होंने यह भी कहा कि ये वो नेता है जो हमारे गठबंधन के सहयोगी नेशनल कान्फ्रेंस के खिलाफ काम कर रहे थे।

यह भी पढ़ें: Jammu Kashmir Weather News: जम्मू-कश्मीर में गर्मी ने तोडे़ रिकॉर्ड, पहली बार राजौरी का पारा पहुंचा 40 डिग्री के पार

विकार रसूल को अगस्त 2022 में प्रदेश कांग्रेस कमेटी का प्रधान नियुक्त किया गया था। बताते चलें कि चुनाव परिणाम के बाद विकार रसूल कह चुके है कि दस पैसे भी प्रचार के लिए नहीं मिले लेकिन फिर भी हमने जोर शोर से चुनाव लड़ा है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.