Move to Jagran APP

Himachal Politics: मेरे मुख्यमंत्री रहते राज्यसभा की सीट ऐसे हारते तो मैं..., जयराम ठाकुर ने सुक्खू को लेकर कही ये बात

नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने सीएम सुक्खू और विक्रमादित्य सिंह पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यदि मेरे मुख्यमंत्री रहते राज्यसभा की सीट इस तरह हारते तो मै पद से त्यागपत्र दे देता लेकिन सीएम सुक्खू कुर्सी का मोह नहीं त्याग रहे हैं। वहीं विक्रमादित्य सिंह पर तंज कसते हुए कहा कि वो अंहकारी हैं उनके पिता में ऐसी छवि कभी नहीं देखी।

By manmohan vashisht Edited By: Deepak Saxena Wed, 10 Apr 2024 08:32 PM (IST)
जयराम ठाकुर ने सीएम सुक्खू और विक्रमादित्य सिंह को लेकर कसा तंज।

संवाद सहयोगी, सोलन। यदि मेरे मुख्यमंत्री रहते राज्यसभा की सीट इस तरह हारते तो मै पद से त्यागपत्र दे देता लेकिन मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू कुर्सी का मोह नहीं त्याग रहे हैं। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने सोलन में पत्रकारों से कही। उन्होंने कहा कि भारी बहुमत के बावजूद सरकार राज्यसभा सीट हार गई, जबकि भाजपा अल्पमत में होकर भी जीत गई। दावा किया कि भाजपा लोकसभा की चारों व विधानसभा उपचुनाव की सभी सीटें जीतेगी।

अहंकारी हो गए विक्रमादित्य सिंह- जयराम ठाकुर

उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसी को भी प्रत्याशी बनाए, हम दोनों चुनाव में उन्हें अवश्य हराएंगे। विक्रमादित्य सिंह अहंकारी हो गए हैं, जबकि उनके पिता में हमने कभी ऐसी छवि नहीं देखी। गत दिनों प्रदेश में हुए राजनीतिक घटनाक्रम के बाद कांग्रेस सरकार की स्थिति हास्यास्पद बनी हुई है। जनता की नजरों व बहुमत की दृष्टि से सरकार गिर चुकी है। मुख्यमंत्री व उनके नेता कांग्रेस छोड़ने वाले विधायकों को कभी भेड़ें तो कभी मेंढक कह रहे हैं।

कांग्रेस कर रही दोषारोपण- जयराम ठाकुर

जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार बार-बार दोषारोपण कर रही है कि कांग्रेस विधायकों को पैसे देकर खरीदा है। यदि सरकार के पास इसके सुबूत हैं तो उजागर करे। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कहती हैं कि लोगों के काम नहीं हुए, कार्यकर्ताओं व नेताओं की अनदेखी हो रही है और विधायकों की बात नहीं सुनी जा रही है। ऐसे हालात बन गए हैं कि चुनाव लड़ने की स्थिति में नहीं हूं और मंडी संसदीय क्षेत्र से चुनाव नहीं लड़ूंगी।

15 महीनों में खुल गई सीएम सुक्खू की पोल

मुख्यमंत्री बौखलाहट में बहुत कुछ बोल रहे हैं। उन्हें बयानबाजी से कुछ दिन आराम लेना चाहिए। तीन निर्दलीय विधायकों पर दबाव डाला गया। उनके स्वजन पर मामले दर्ज करने शुरू कर दिए। नियमों के अनुसार निर्दलीय विधायकों के त्यागपत्र तत्काल स्वीकार किए जाने चाहिए। मुख्यमंत्री व्यवस्था परिवर्तन की बात करते हैं लेकिन 15 माह में उनकी पोल खुल गई है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने कहा कि 65 साल देश में राज करने वाली कांग्रेस चार जून को 30 सीटों पर सिमट जाएगी। इस अवसर पर भाजपा प्रत्याशी सुरेश कश्यप, लोकसभा प्रभारी सुखराम चौधरी, प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष डा. राजीव सैजल, रश्मिधर सूद, बलदेव भंडारी, कर्ण नंदा, जिला प्रवक्ता विवेक शर्मा, संजीव मोहन, शैलेंद्र गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें: Shimla News: लोहे के रास्ते पर चलते हुए नहीं सताएगा करंट का खतरा, शहरी विकास विभाग ने तैयार किया ये नया प्लान

ये भी पढ़ें: Sirmaur Crime: मूकबधिर मल्टी टास्क वर्कर से दुष्कर्म मामले में शिक्षा विभाग की बड़ी कार्रवाई, हेडमास्टर को किया सस्पेंड