Move to Jagran APP

Himachal Weather News: हिमाचल में कमजोर पड़ा मानसून, कांगड़ा और शिमला में छाए बादल; जानिए मौसम का पूरा अपडेट

Himachal Weather News हिमाचल प्रदेश में मानसून कमजोर पड़ गया है। वहीं कांगड़ा और शिमला में बादल छाए रहे। आने वाले दिनों में बारिश की संभावना बताई जा रही है। मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी कर दिया है। कुल्‍लू-मनाली की बात करें तो वहां पूरे दिन धूप खिली रही। जिससे उमस और गर्मी म‍हसूस हुई। साथ ही गर्मी होने से पर्यटकों की भी संख्‍या कम हो गई है।

By Jagran News Edited By: Himani Sharma Thu, 11 Jul 2024 07:23 AM (IST)
हिमाचल प्रदेश में मानसून की रफ्तार हुई कम

राज्य ब्यूरो, शिमला। Himachal Weather News: हिमाचल में मानसून कमजोर पड़ गया है। राज्य के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान में एक डिग्री सेल्सियस की गिरावट होने की संभावना है। जिसके तहत कांगड़ा और शिमला के साथ लगते क्षेत्रों में तापमान गिरेगा। जबकि निचले क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान यथावत बना रहेगा। प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर मानसून की वर्षा हो रही है, जिसके परिणाम स्वरूप न्यूनतम तापमान में गिरावट हो रही है।

मौसम विभाग के निदेशक डॉ. सुरेंद्र पाल का कहना है कि मानसून की तीव्रता घटी है। प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर 16 जुलाई तक कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा की संभावना है। बुधवार को प्रदेश के छह स्थानों पर हल्की और कुछ स्थानों पर अधिक वर्षा हुई है।

24 घंटे में इस प्रदेश में सबसे अधिक बारिश

सिरमौर जिला के पांवटा साहिब व धौलाकुआं में 24 घंटे में प्रदेश में सबसे अधिक वर्षा हुई। कुल्लू-मनाली में हल्की वर्षा होने के बाद पूरा दिन धूप खिली रही। शिमला में पूरा दिन बादल छाए रहे। पावंटा साहिब में सबसे अधिक 18.4 मिलीमीटर वर्षा हुई। धौलाकुआं में 17.5, पालमपुर में 8.8, धर्मशाला में 10.8 डलहौजी में 10 मिलीमीटर वर्षा हुई।

यह भी पढ़ें: Himachal Weather: हिमाचल में मानसून का तांडव, 42 सड़कें बंद; मौसम विभाग ने जारी किया भारी बारिश का अलर्ट

प्रदेश में 28 सड़कें बंद

प्रदेश में 28 सड़कें बंद हैं। इनमें मंडी में आठ, शिमला में छह, सिरमौर में पांच, कांगड़ा में चार, किन्नौर में तीन और कुल्लू जिले में दो सड़कें बंद हैं। प्रदेश में 19 ट्रांसफार्मर बंद होने से कई क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति बाधित है। इसके अलावा 16 पेयजल योजनाओं के ठप होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।