Move to Jagran APP

Himachal News: उपचुनाव खत्म होते ही लोन लेने की तैयारी, दस वर्ष के लिए 500 करोड़ का ऋण लेगी सुक्खू सरकार

हिमाचल प्रदेश में सुक्खू सरकार पांच सौ करोड़ का लोन लेने की तैयारी में है। प्रदेश सरकार दस वर्षों के लिए पांच सौ करोड़ का कर्ज लेगी। केंद्र सरकार ने राज्य के लिए दिसंबर माह तक 6200 करोड़ का ऋण लेने की सीमा निर्धारित कर रखी है। मौजूदा वित्त वर्ष में अभी तक 2900 करोड़ का ऋण उठा चुकी है।

By Parkash Bhardwaj Edited By: Prince Sharma Thu, 11 Jul 2024 09:26 PM (IST)
Himachal News: उपचुनाव खत्म होते ही लोन लेने की तैयारी, दस वर्ष के लिए 500 करोड़ का ऋण लेगी सुक्खू सरकार
हिमाचल में सुक्खू सरकार पाचं सौ करोड़ का लोन लेने की तैयारी में है

राज्य ब्यूरो, जागरण, शिमला। प्रदेश सरकार 500 करोड़ का ऋण लेगी, यह ऋण धनराशि 10 साल की अवधि के लिए होगी। सरकार मौजूदा वित्त वर्ष में अभी तक 2900 करोड़ का ऋण उठा चुकी है और 500 करोड़ की धनराशि को शामिल कर लिया जाए तो 3400 करोड़ पहुंच जाएगा।

वित्त वर्ष के लिए 6200 करोड़ का ऋण उठा सकती है सरकार

इस वित्त वर्ष के लिए सरकार 6200 करोड़ का ऋण उठा सकती है। पहली बार ऐसा हुआ कि सरकार को वित्त वर्ष के पहले माह में ही ऋण उठाना पड़ा था।

सामान्य तौर पर सरकार जुलाई माह से ऋण लेना शुरू करती थी। आज वित्त विभाग की ओर से खुले बाजार से ऋण लेने के लिए आवेदन किया गया।

यह भी पढ़ें- सेब और ड्रैगन फ्रूट छोड़ो... एवोकाडो फल बदल रहा हिमाचल के किसानों की किस्‍मत, कीमत जान रह जाएंगे दंग

केंद्र सरकार ने राज्य के लिए दिसंबर माह तक 6200 करोड़ का ऋण लेने की सीमा निर्धारित कर रखी है। ऋण की सीमा पर अंकुश लगने के कारण प्रदेश सरकार ऋण की सीमा को बढ़ाने का मामला वित्त मंत्रालय के समक्ष उठा चुकी है। दिसंबर के बाद वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में सरकार के सामने संकट की स्थिति रहेगी।

ऋण की सीमा कम होने के कारण सरकार को कम ऋण उठाने के लिए मजबूर होना पड़ा है। बजट अनुमान के अनुसार इस वित्त वर्ष के अंत में ऋण की कुल धनराशि 94 हजार करोड़ पहुंचेगी।

यह भी पढ़ें- हिमाचल में जमकर हो रही टाइडमैन सेबों की बिक्री, 1200 रुपए में बिक रही पेटी; नाशपाती और चेरी का भी मिल रहा अच्छा दाम