Move to Jagran APP

हिमाचल में जमकर हो रही टाइडमैन सेबों की बिक्री, 1200 रुपए में बिक रही पेटी; नाशपाती और चेरी का भी मिल रहा अच्छा दाम

हिमाचल प्रदेश में टाइडमैन सेबों (Apple Price in Himachal) की बिक्री जमकर हो रही है। यहां फल मंडी में सेब की पहली खेप में 20 किलो की प्रति पेटी 1200 रुपए के हिसाब से बेची जा रही है। कुल्लू के बागों का यह सेब है। जिसकी खूब डिमांड रहती है। वहीं नाशपाती और सेबों की कीमत भी अच्छी खासी मिल रही है।

By davinder thakur Edited By: Prince Sharma Thu, 11 Jul 2024 06:07 PM (IST)
हिमाचल में सेब के कार्टन वाहन में ढोते विक्रेता (जागरण फोटो)

दविंद्र ठाकुर, कुल्लू। कुल्लू जिला की खेग्सू फल सब्जी मंडी में टाइडमैन किस्म के सेब ने धमाकेदार दस्तक दी है।

वीरवार को फल मंडी में सेब की पहली खेप में 20 किलो पैकिंग की पेटियां पहुंची जो कि प्रति पेटी 1200 रुपए में बिकी। कुल्लू के बागवान के बगीचे का यह सेब था। टाइडमैन की एंट्री के साथ ही कुल्लू जिला में सेब सीजन की शुरुआत हो गई है।

जिला के कम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में टाइडमैन की पैदावार होती है। सेब की अन्य किस्मों के मुकाबले यह सबसे पहले तैयार हो जाता है।

नाशपाती और चेरी के दाम भी मिल रहे अच्छे

खेग्सू फल मंडी में कुछ दिन में सेब सीजन रफ्तार पकड़ लेगा। मंडी में सेब के अलावा नाशपाती और चेरी के भी अच्छे दाम मिल रहे हैं। सभी पेटियां मंडी में यूनिवर्सल कार्टन में ही आईं। वर्मा फ्रूट शॉप नंबर छह में 30 पेटी सेब की आई।

इस दौरान 20 किलो की एक पेटी को 1100 से 1400 रुपए तक दाम मिले। वर्मा फ्रूट के संचालक राकेश वर्मा ने बताया कि अभी टाइडमैन सेब ही पहुंच रहा है। हालांकि, सेब अभी गुणवत्ता के अनुसार सही नहीं आ रहा है। देखादेखी में बागवान सेब का समय से पहले तूड़ान करते हैं।

मंडी में रेड जून सेब की खेप पहुंचना शुरू

इस कारण दाम में गिरावट आ जाती है। इसलिए बागवानों से आग्रह है कि जब भी सेब का तूड़ान करें उससे पूरी तरह से तैयार होने दें। इसके अलावा मंडी में अर्ली वैरायटी रेड जून सेब की खेप भी पहुंचना शुरू हो गई है।

आढ़ती राकेश वर्मा ने बताया कि खेग्सू मंडी में रोजाना नाशपती पहुंच रही है। वीरवार को ए ग्रेड मोटी डंडी नाशपाती के दाम में 100 रुपए की गिरावट आई है। मंडी में 1000 से 1400 रुपए तक बिक रही है।

एपीएमसी कुल्लू व लाहौल-स्पीति के सचिव शगुन सूद ने कहा कि मंडियों में अर्ली वैरायटी सेब पहुंचना शुरू हो गया है। इस बार बागवानों को अच्छे दाम मिलें, इसके लिए प्रयास किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- सेब और ड्रैगन फ्रूट छोड़ो... एवोकाडो फल बदल रहा हिमाचल के किसानों की किस्‍मत, कीमत जान रह जाएंगे दंग