Move to Jagran APP

Mid Day Meal Scheme: मिड-डे मील का बदला मेन्‍यू, अब और ज्‍यादा स्‍पेशल हुई बच्‍चों की थाली; शामिल हुए ये व्‍यंजन

Mid Day Meal Scheme मिड-डे मील का मेन्‍यू एक बार फिर बदल गया है। इस बार बच्‍चों की थाली और ज्‍यादा स्‍पेशल हो गई है। महानिदेशक मौलिक शिक्षा के मिड-डे मील अधीक्षक की तरफ से 20 अप्रैल को नए शैक्षिक सत्र 2024-25 के लिए मिड-डे-मील का नया मेन्यू जारी किया गया था। वहीं अब दो दिन पूर्व नया आदेश जारी करते हुए संशोधित मेन्यू जारी कर दिया गया है।

By Jagran News Edited By: Himani Sharma Published: Sun, 09 Jun 2024 12:39 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 12:39 PM (IST)
Mid Day Meal Scheme: मिड-डे मील का बदला मेन्‍यू (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, यमुनानगर। Mid Day Meal Scheme: राजकीय स्कूलों में कक्षा 1 से 8वीं तक की पढ़ाई करने वाले छात्रों को दोपहर के समय स्कूल में मिलने वाले भोजन के मेन्यू को संशोधित किया गया है। इसके लिए नई सूची जारी कर दी गई हैं।

मिड-डे मील के लिए जारी किए गए नए मेन्यू में रागी व चने की मात्रा घटाई गई है, जबकि गेहूं व दूध की मात्रा को बढ़ा दिया गया है। क्योंकि ये दोनों चीजें बढ़ते बच्चों के लिए अत्यंत जरूरी है। वहीं सोया चूरा को मेन्यू से हटाया गया है।

मिड-डे मील का नया मेन्यू जारी

साथ ही छात्रों को अब दही के साथ गुड़ व मिस्सी के पराठें भी खाने को मिलेंगे। महानिदेशक मौलिक शिक्षा के मिड-डे मील अधीक्षक की तरफ से 20 अप्रैल को नए शैक्षिक सत्र 2024-25 के लिए मिड-डे-मील का नया मेन्यू जारी किया गया था। वहीं अब दो दिन पूर्व नया आदेश जारी करते हुए संशोधित मेन्यू जारी कर दिया गया है। जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी के साथ ही इस्कान फूड रिलीफ फांडेशन को भी संशोधित मेन्यू भेज दिया गया है।

आठवीं तक के छात्रों को दिया जाता है मिड-डे मील

राजकीय स्कूलों में सरकार की तरफ से कक्षा पहली से आठवीं तक के छात्रों को मिड-डे मील दिया जाता है। मिड-डे-मील में बच्चों के स्वास्थ्य व उनको भोजन में किस चीज की जरूरत ज्यादा है इसका भी ध्यान रखा जाता है।

यह भी पढ़ें: Gurugram: दृष्टिहीन बेटी को सौतेले बाप ने बनाया हवस का शिकार, कोर्ट ने अंतिम सांस तक सुनाई कैद की सजा

नए शैक्षिक सत्र के लिए अप्रैल माह में ही मिड-डे-मील का मेन्यू जारी कर दिया गया था। जिसके बाद उस हिसाब से ग्रीाष्मकालीन अवकाश तक भोजन दिया जा रहा था। मगर अब फिर से महानिदेशक मौलिक शिक्षा की तरफ से मिड-डे-मील का नया संशोधित मेन्यू जारी किया गया है।

शुक्रवार को दिया जाएगा ये स्‍पेशल भोजन

नए शेड्यूल के अनुसार पहले सप्ताह के शुक्रवार के दिन बच्चों को गुड़ रोटी के साथ दही का स्वाद चखने को मिलेगा। जबकि पुराने शेड्यूल के अनुसार इसी दिन हलवा और काला चने से बनी सब्जी दी जाती थी, जोकि इस बार हटा दिया गया है। बुधवार के दिन चावल व सफेद चने से बनी सब्जी विद्यार्थियों को मिलेगी, जबकि पुराने शेड्यूल के अनुसार इस दिन सोया पूरी, आलू से बनी सब्जी विद्यार्थियों को दी जाती थी।

यह भी पढ़ें: Haryana Crime News: खौफनाक! पैसों के लिए कई बार टोकने पर मां ने मारी चप्पल, बेरोजगार बेटे ने गला घोंट ले ली जान

इसके साथ ही नए मेन्यू में ऐसे व्यंजन जोड़े गए हैं जो पौष्टिक होने के साथ-साथ स्वादिष्ट भी हैं। इसके अलावा पहली से पांचवीं और छठी से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को मिलने वाला मिड-डे मीलके मेन्यू में वार के अनुसार बदलाव भी किए गए हैं ताकि विद्यार्थियों को मौसम के हिसाब से अन्य पौष्टिक व्यंजन मिल सकें।

मिड-डे मील योजना के तहत अब विद्यार्थियों के खाने में बदलाव किया गया है। इसमें दूध व गेहूं की मात्रा को बढ़ाया गया है तो वहीं इस बार विद्यार्थियों को गुड़-रोटी के साथ दही व मिस्सी पराठे का स्वाद चखने को मिलेगा। विद्यार्थियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर मिड-डे मील का शेड्यूल बनाया गया है। इसको 1 जुलाई से स्कूलों के खुलते ही लागू कर दिया जाएगा। -धर्मेंद्र कुमार सिंह, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, यमुनानगर।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.