Move to Jagran APP

सुबह कांग्रेस तो दोपहर में भाजपा, फिर शाम को इस दल ने मारी बाजी; जानें कांटे के मुकाबले में हर घंटे कौन रहा आगे-पीछे

कांग्रेस ने भाजपा से सोनीपत लोकसभा सीट छीन ली। कांग्रेस के सतपाल ब्रह्मचारी ने मोहन लाल बड़ौली को हराया। हालांकि जीत-हार का अंतर ज्यादा नहीं था लेकिन दोनों के बीच में मुकाबला दिलचस्प था। हर एक घंटे में कभी बड़ौली तो कभी सतपाल आगे-पीछे हो रहे थे। आखिरकार शाम को छह बजे के करीब भाजपा के उम्मीदवार ने हार स्वीकार कर ली।

By Jagran News Edited By: Monu Kumar Jha Wed, 05 Jun 2024 02:00 PM (IST)
Sonipat Chunav Results 2024: सुबह कांग्रेस तो दोपहर में भाजपा, फिर शाम में कांग्रेस ने मारी बाजी।

निरंजन कुमार, सोनीपत। (Sonipat Lok Sabha Election Results 2024 Hindi) सोनीपत लोकसभा सीट पर कांग्रेस ने चुनाव जीत लिया है। कांग्रेस के सतपाल ब्रह्मचारी ने भाजपा के मोहनलाल बड़ौली (Mohan Lal Badoli) को बेहद कड़े और रोमांचक मुकाबले में 21816 वोट से हरा दिया। सुबह से लेकर अंतिम समय तक जिले के लोग दिल थाम के बैठे रहे।

सुबह के समय कांग्रेस (Haryana Congress) का पलड़ा भारी रहा तो दोपहर में भाजपा (Haryana BJP) को बढ़त मिलनी शुरू हुई, लेकिन दो घंटे बाद फिर से कांग्रेस ने बढ़त बनानी शुरू की तो यह जीत तक जारी रही। हालांकि दोनों प्रत्याशियों के बीच एक बार भी मार्जन 15 हजार से ज्यादा नहीं पहुंचा। अंतिम राउंड और पोस्टल वोट के बाद 21816 से कांग्रेस को जीत मिली।

सुबह छह बजे से आठ बजे तक

मोहाना स्थित बिट्स कालेज में मतगणना के लिए विभिन्न पार्टियों के एजेंटों की एंट्री पूरी हुई। कड़ी जांच के बाद ही एजेंटों को अंदर जाने दिया गया है। आठ बजे भाजपा के प्रत्याशी मोहनलाल बड़ौली काउंटिंग सेंटर पहुंच गए हैं। जींद विधानसभा सीट से सबसे पहले रूझान आए, यहां सतपाल ब्रह्मचारी 1881 वोट से आगे रहे।

नौ बजे से 11 बजे

कांग्रेस के सतपाल ब्रह्मचारी को 22 हजार 820 वोट और भाजपा के मोहनलाल बड़ौली को 16 हजार 634 वोट मिले हैं। कांग्रेस 6 हजार वोटों से आगे निकली। कांग्रेस प्रत्याशी सतपाल ब्रह्मचारी पहुंचे, कहा कि वे भगवान के भरोसे हैं। उनकी जीत पक्की है। हर क्षेत्र से अच्छे रुझान आ रहे हैं।

11 से 12 बजे तक

कांग्रेस की भाजपा पर बढ़त जारी। सतपाल ब्रह्मचारी 2173 वोटों से आगे रहे। कांग्रेस को यहां 201365 वोट मिली तो भाजपा के बड़ौली को 199192 वोट मिले। बसपा का उमेश 4769 वोट के साथ तीसरे स्थान पर है।

12 से एक बजे

कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला, सुबह से पीछे चल रहे भाजपा के बड़ौली ने 3954 वोटों से कांग्रेस पर बढत बनाई। उनको 224278 वोट मिले। कांग्रेस के ब्रह्मचारी को 220324 वोट मिले। बसपा के उमेश कुमार ने 5391 वोट लिए हैं। जजपा व इनेलो प्रत्याशी बुरी तरह से पिछड़े नजर आए।

दो से तीन बजे

ताजा रुझान में भाजपा की लीड घट गई है। बड़ौली 5849 वोटों से कांग्रेस से आगे, कुछ देर पहले ये लीड 10 हजार से ज्यादा थी। भाजपा को 342424 वोट तो सतपाल ब्रह्मचारी को 336575 वोट मिले। बसपा, जजपा व इनेलो के कैंडिडेट 10 हजार वोट तक नहीं पहुंच पाए हैं। कुछ देर बाद मोहनलाल को पछाड़ कर ब्रह्मचारी 2349 वोटों से आगे हो गए हैं।

तीन से चार बजे

सतपाल ब्रह्मचारी लगातार लीड लिए हुए। वे भाजपा के मोहन लाल से 8012 वोटों से आगे रहे। उनको अभी तक 514968 वोट मिले हैं। भाजपा काे 506956 वोट और बसपा के उमेश को 12173 वोट मिले हैं। लाठ और जोली गांवों की काउंटिंग रुकने पर कांग्रेसियों ने यहां तानाशाही नहीं चलेगी के नारे लगाए।

चार से पांच बजे

कांग्रेस की लीड बढ़ गई और सतपाल ब्रह्मचारी 14 हजार 119 वोटों से भाजपा के मोहनलाल बड़ौली से आगे पहुंच गए। कांग्रेसियों ने नारेबाजी शुरू की, तो मतगणना केंद्र के बाहर कमांडो के जवान लगाने पड़े। 100 से ज्यादा पुलिस के जवान भी घेरा बना कर खड़े किए गए। करीब पांच बजे कांग्रेस की लीड बढ़ कर 20711 हो गई है।

पांच से छह बजे

कांग्रेस के तीनों विधायक मतगणना केंद्र के बाहर पहुंचे, कार्यकर्ताओं को समझाया कि उनकी 30 हजार से जीत हो रही है। हंगामे को जश्न में बदलने की अपील की।

छह से सात बजे

भाजपा के बड़ौली ने हार स्वीकार की, काउंटिंग सेंटर से आए बाहर। जहां पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हूटिंग कर दी। मोहनलाल बड़ौली ने हाथ जोड़कर उनका अभिवादन किया।

सात से आठ बजे

कांग्रेस की जीत की घोषणा हुई। सतपाल ब्रह्मचारी बाहर आए तो समर्थकों ने उन्हें कंधों पर उठा लिया। उन्होंने जीत के लिए लोगों का आभार जताया।

मतगणना के दौरान सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे:डीसीपी

डीसीपी क्राइम नरेंद्र सिंह ने कहा कि चुनाव के लिए मतदान और मतगणना के दौरान सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। इस दौरान जिले की अंतरराज्यीय सीमाओं पर विशेष निगरानी की गई। जिससे अपराधियों और असामाजिक तत्वों का आवागमन नहीं हुआ। भीषण गर्मी में अपनी जिम्मेदारी पूर्ण रूप निभाने के लिए पुलिसकर्मी विशेष तौर पर बधाई के पात्र है।

यह भी पढ़ें: Sonipat News: इस बार PM भी नहीं भेद पाए भूपेंद्र हुड्डा का किला, बस इस एक मुद्दे के कारण 'मोदी की गारंटी' पड़ी फीकी