जेएनएन, रोहतक। यहां अमृत कॉलोनी में अंतरजातीय विवाह करने पर बेटी की हत्या मामले में मां व पिता ने पुलिस पूछताछ में कई राज खोले हैं। परिजनों की क्रूरता की शिकार हुुई सीमा की मां अंग्रेजो ने पुलिस को बताया कि उसने बेटी का सिर पकड़ा था और बेटे रिंकू ने पैर। इसके बाद पिता खुशीराम ने चुन्नी से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी।

अंंग्रेेजाेे और खुशीराम को अदालत में पेश किया गया। अंंग्रेेजाेे देवी को जेल और खुशीराम को एक दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया गया। बता दें कि बृहस्पतिवार को सीमा की मां अंग्रेजो ने पुलिस व मीडिया को बताया था कि सीमा की हत्या से पहले पति खुशीराम ने उसे व बेटे रिंकू को कमरे से बाहर भेज दिया था।

शुक्रवार दोपहर बाद डॉक्टरों के बोर्ड ने सीमा के शव का पोस्टमार्टम किया। इसके बाद उसके शव को पति प्रदीप को सौंप दिया गया। पोस्टमार्टम हाउस में प्रदीप ने पुलिस से मांग की है कि उसकी पत्नी के हत्यारों को सख्त से सख्त सजा मिले। वहीं फरार चल रहे सीमा के भाई रिंकू को भी गिरफ्तार करने की मांग की।

शादी का पहले पता चल जाता तो उसी समय कर देते हत्या

खुशीराम और उसकी पत्नी अंग्रेजो ने पुलिस को बताया कि उनकी बेटी उनके साथ ही थी, लेकिन उसने 21 दिसंबर को प्रदीप से चुपचाप शादी कर ली है। यदि उन्हें उसी समय पता चल जाता तो वह तभी सीमा की हत्या कर देते। तीन दिन पहले ही प्रदीप के परिजन प्रदीप व सीमा की शादी का प्रमाणपत्र लेकर उनके घर पहुंचे थे और उन्होंने शादी की बात की। खुशीराम और अंग्रेजो ने कहा कि वह इस शादी के लिए तैयार है और उनकी शादी पूरे रीति-रिवाज के साथ करेंगे। इसके लिए उन्होंने चार से पांच दिन का समय मांगा।

जहर देकर मारने की थी साजिश

खुशीराम ने पहले तो अपनी बेटी की जहर देकर मारने की प्लाङ्क्षनग बनाई। इसलिए वह बाजार से जहर खरीदकर भी ले आया था, लेकिन बाद में उसने सोचा कि जहर देने के बाद सीमा चिल्लाएगी और अन्य लोगों को पता चल जाएगा। यहीं नहीं उन्हें यह भी डर था कि कहीं वह बच गई तो उनके खिलाफ बयान दे देगी। इसके बाद उन्होंने गला दबाकर मारने की साजिश रची और फांसी का ड्रामा रचा।

जहां से लाश निकाली, वहीं हुआ अंतिम संस्कार

शुक्रवार दोपहर बाद प्रदीप और उसके परिजनों ने सीमा का पूरे रीति रिवाज के अनुसार अंतिम संस्कार कर दिया। सीमा का दाह संस्कार उसी श्मशान घाट में किया गया, जहां से पुलिस ने उसके शव को अधजली हालत में निकाला था। पति प्रदीप ने सीमा की चिता को मुखाग्नि दी।

----

''सख्ती से पूछताछ में अंग्रेजो ने बताया कि उसने अपनी बेटी के सिर पकड़ा, भाई ने पैर और पिता खुशीराम ने गला दबाकर मार डाला। पिता को एक दिन के रिमांड पर लिया गया है। मां को जेल भेज दिया। खुशीराम और उसकी पत्नी ने बताया कि उन्हें शादी के बारे में तीन दिन पहले ही पता चला। इसके बाद ही उन्होंने उसकी हत्या की साजिश रचनी शुरू कर दी थी।
-इंस्पेक्टर नवीन कुमार, शिवाजी कॉलोनी एसएचओ व जांच अधिकारी।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस