पानीपत/यमुनानगर, जेएनएन। सामाजिक बंधन और रीतियां इनके प्यार की राह में रोड़ा बनेंगी। इन्हें कुबूल था। समाज के साथ-साथ सिस्टम भी इनका दुश्मन बन जाएगा, इन्‍हें ये नहीं पता था। हंगामा हुआ। पुलिस आई। और इन दोनों प्यार करने वालों को जुदा कर दिया। हिंदू युवक चिल्लाता रहा कि उसने प्यार किया है। शादी की है। उसके पास सुबूत है। बावजूद किसी ने नहीं सुना और दो प्यार करने वाले अलग हो गए। बजरंग दल भी इस वि‍वाद में विवाद में कूद गया है। 

दरअसल, हिंदू समुदाय के रिंकू का पड़ोस की ही युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। एक माह पहले उन्होंने भागकर शादी कर ली। अब वह दोनों हमीदा में रह रहे थे। शुक्रवार रात किसी काम से रिंकू बाहर गया था। घर पर युवती और मां अकेली थी। तभी खुद को युवती के परिजन बताते हुए सैंकड़ों लोग पहुंच गए। युवती और रिंकू की मां को घर से बाहर निकालते हुए पीटने लगे। 

हमीदा चौकी की पुलिस पहुंची
हंगामा होने पर हमीदा चौकी से पुलिस पहुंची। किसी तरह से भीड़ के कब्जे से युवती को छुड़ाकर चौकी लाए। लोगों ने चौकी का घेराव कर दिया। मामला शांत कराने के लिए पुलिस ने युवती को उन लोगों को सौंप दिया। 

 love jaihad

मंदिर में शादी की तस्‍वीर।

मेरी पत्नी को लेकर गए 
रिंकू का कहना है कि उन्होंने मंदिर में रीति रिवाज से शादी की है। वे दोनों बालिग हैं। इस बारे में दस्तावेज भी दिए गए। पुलिस नहीं मानी और उनकी पत्नी को जबरन उनके साथ भेज दिया। रिंकू ने आरोप लगाया कि पत्नी की हत्या हो सकती है। वे लोग मुझे भी जान से मारना चाहते हैं।

युवती के बयान तक नहीं करवाए पुलिस ने
एडवोकेट वरयाम सिंह का कहना है कि प्रेम विवाह का मामला हो या फिर प्रेम प्रसंग के चलते फरार होने का। दोनों में ही युवती के बयान कोर्ट में करवाए जाते हैं। पुलिस ने युवती के बयान तक नहीं करवाए। किशोरियों के मामले में भी सीडब्ल्यूसी के सामने काउंसिलिंग करवाई जाती है। पुलिस हंगामा करने वालों के दबाव में आ गई होगी। जिस कारण युवती को वे ले गए। पीडि़त पक्ष इस मामले में न्यायालय में जानमाल की सुरक्षा की गुहार लगा सकता है।  

/love jaihad 

हंगामा करते लोग सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे।

चौकी इंचार्ज खुद कार में बैठाकर ले गए
प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि युवती को सड़क पर पीटा जा रहा था। चौकी इंचार्ज उसे कार में बैठाकर ले गए। फिर परिजनों से बात कर उनके साथ भेज दिया। जबकि चौकी इंचार्ज युवती को कहीं और सेफ जगह भिजवा सकते थे। कुछ लोग वीडियो बनाने लगे तो पुलिस व हंगामा कर रहे लोगों ने चेतावनी देकर रोक दिया। घटना से तनाव का माहौल बना हुआ है। बताया जा रहा है कि रिंकू के पक्ष में हिंदू संगठनों की पंचायत भी हुई। इसमें इस मामले को लेकर आगे की रणनीति तय की गई। 

नहीं दिखा पाए दस्तावेज इसलिए युवती को भेज दिया: चौकी इंचार्ज
हमीदा चौकी इंचार्ज अमरीक सिंह ने बताया कि हंगामा करते हुए कुछ लोग चौकी में आ गए थे। उन्हें बाहर निकाला गया। युवती से शादी के संबंध में युवक पक्ष कोई भी दस्तावेज पेश नहीं कर सका। केवल आधार कार्ड दिखाया था।  इसलिए युवती को उनके परिजनों के हवाले कर दिया गया। वह उसे सहारनपुर लेकर गए हैं। 

दस्तावेज दिखाएं तो वारंट जारी करा देंगे: डीएसपी हेडक्वार्टर
डीएसपी हेडक्वार्टर सुभाष चंद का कहना है कि युवक युवती की शादी की बात कही जा रही है, लेकिन कोई दस्तावेज नहीं दिखाया। यदि कोई दस्तावेज है, तो वारंट जारी करा देंगे। इसके बाद युवती के बयान हो जाएंगे। लड़के पक्ष की ओर से भी यदि कोई मारपीट व अन्य शिकायत आती है, तो उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप