जेएनएन, चंडीगढ़। कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन एवं हरियाणा के पूर्व मंत्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बैैंकों में जमा जनता के धन पर खतरा बताया है। उन्होंने कहा कि पीएनबी घोटाले से देश के बैैंकिंग सिस्टम टूट गया और लोगों का भरोसा कम होता जा रहा है। अखिल भारतीय व्यापार मंडल के महासचिव बजरंग दास गर्ग ने आशंका जताई कि बैैंकों में जमा पैसे को गायब करने की तैयारी है।

सरकार से पूछा, घोटाले कर कैसे भाग गए ललित और नीरव मोदी

सुरजेवाला ने कहा कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में आए दिन घोटाले हो रहे हैैं। पहले विजय माल्या 9000 करोड़ रुपये लेकर भाग गया। फिर बैैंक ऑफ बरौदा का 6000 करोड़ डूबा। उसके बाद ललित मोदी और फिर नीरव मोदी घपले करके फरार हो गए। सुरजेवाला ने कहा कि मोदी के शासन में सारे मोदी घोटाला करके भाग रहे हैैं। जनता इस पर सरकार का जवाब चाहती है।

यह भी पढ़ें: तंवर का मास्टर स्ट्रोक; 21 जिलों में 59 प्रभारी बनाए, हर खेमे को प्रतिनिधित्व

सुरजेवाला ने जींद रैली में करीब 50 करोड़ रुपये खर्च होने का आरोप लगाते हुए कहा कि यह राशि सरकार को भाजपा के खाते से वसूल कर सरकारी खजाने में जमा करानी चाहिए।  उन्‍होंने कहा कि जींद में भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शा‍ह की रैली पूरी तरह फ्लाप रही।

बजरंग दास ने भी मांगा सरकार से जवाब, पूछा कैसे सुरक्षित होगा पैसा

दूसरी तरफ अखिल भारतीय व्यापार मंडल के महासचिव बजरंग दास गर्ग ने कहा कि नीरव मोदी द्वारा किए 11 हजार करोड़ के घोटाले से बैैंकिंग सिस्टम उबर नहीं पाया है। अब कानपुर में विक्रम कोठारी द्वारा 500 करोड़ का एक और घोटाला सामने आ गया है। बजरंग दास ने कहा कि इन घोटालों से देश की जनता में भय बढ़ता जा रहा है। उनकी बैैंकों में जमा पूंजी सुरक्षित है या नहीं, इस पर केंद्र सरकार को बयान देना चाहिए।

यह भी पढ़ें: अन्‍ना हजारे ने कहा- नेताओं पर हो जनता का अंकुश, कोई भी पार्टी ठीक नहीं

बजरंग दास गर्ग ने कहा कि पिछले दिनों केंद्र सरकार ने कहा था कि बैंक के दिवालिया होने पर खाताधारक को सिर्फ एक लाख रुपये ही वापस मिलेंगे। भले ही बैैंक में उनका कितना भी पैसा जमा है। उन्होंने कहा कि इसका मतलब सरकार को पहले से पता था कि कुछ गड़बड़ होने वाली है। इसलिए ऐसा बयान दिया गया। सरका को स्पष्ट करना चाहिए कि जनता का पैसा कैसे सुरक्षित रहेगा।

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप