Move to Jagran APP

Haryana News: हरियाणा के छात्रों की बल्ले बल्ले, अब 150 किमी तक मिलेगी फ्री बस पास की सुविधा; परिवहन विभाग ने जारी किया आदेश

हरियाणा सरकार ने छात्रों को तोहफा दिया है। छात्रों के लिए अब 150 किमी तक बस पास जारी किए जाएंगे। परिवहन मंत्री असीम गोयल ने बताया कि राज्य में स्थित ऐसे स्कूल-कॉलेज और संस्थानों में पढ़ने वाले सभी छात्रों को रियायती बस पास जारी किए जाएंगे। इससे पहले तक छात्रों के लिए केवल 60 किमी दूरी तक के पास जारी किए जाते थे।

By Jagran News Edited By: Rajiv Mishra Wed, 10 Jul 2024 11:01 AM (IST)
Haryana News: हरियाणा के छात्रों की बल्ले बल्ले, अब 150 किमी तक मिलेगी फ्री बस पास की सुविधा; परिवहन विभाग ने जारी किया आदेश
छात्रों के लिए 150 किमी तक जारी होगा बस पास (फाइल फोटो)

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। हरियाणा में छात्र अब 150 किलोमीटर की दूरी तक बस पास बनवा सकेंगे। अभी तक केवल 60 किलोमीटर की दूरी तक ही पास बनाए जा रहे थे। छमाही आधार पर बस पास जारी किए जाएंगे। छात्राओं को पहले ही बसों में मुफ्त यात्रा की सुविधा है। परिवहन विभाग के प्रधान सचिव नवदीप सिंह विर्क ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।

सरकारी एवं मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ने वाले छात्रों को जारी होगा पास

हरियाणा में स्थित सभी सरकारी एवं मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ने वाले छात्रों को बस पास की सुविधा मिलेगी। परिवहन मंत्री असीम गोयल ने बताया कि राज्य में स्थित ऐसे स्कूल-कालेज और संस्थानों में पढ़ने वाले सभी छात्रों को रियायती बस पास जारी किए जाएंगे, जो संस्थान राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त हैं या राज्य में किसी विश्वविद्यालय या बोर्ड से संबद्ध हैं।

लाखों छात्र होंगे लाभान्वित

सरकार के इस निर्णय से प्रदेशभर के लाखों छात्र लाभान्वित होंगे। बस पास स्कूल-कालेज-संस्था प्राधिकारियों की संस्तुति पर छमाही आधार पर जारी किए जाएंगे।

परिवहन विभाग द्वारा जारी पत्र के अनुसार जो भी स्कूल-कालेज-संस्था अपने छात्रों का बस पास बनवाना चाहते हैं, उन्हें अपने संस्थान की मान्यता/संबद्धता प्रमाणपत्र की सत्यापित प्रति सहित छात्रों की सूची संबंधित रोडवेज डिपो को उपलब्ध करवाना होगी।

यह भी पढ़ें- Haryana News: खुशखबरी! सेक्टरों और कॉलोनियों ने अब बना सकेंगे चौथी मंजिल, सरकार ने हटाई सशर्त रोक

ऐसे जारी होंगे पास

यह प्रमाणपत्र किसी सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया होना चाहिए। बाद में जांच-पड़ताल करके डिपो के महाप्रबंधक या उनके द्वारा नियुक्त अधिकारी द्वारा सूची के अनुसार बस पास जारी किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें- हरियाणा में चुनाव से पहले भाजपा ने खेला ब्राह्मण कार्ड, सोनीपत के राई विधायक को मिली बड़ी जिम्मेदारी