संवाद सूत्र, नरवाना : रेल यात्रियों को बेहतर सुविधा देने व समय की बचत के लिए रेलवे ने अपना अभियान तेज कर दिया है, ताकि आने वाले समय में रेल यात्रियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा सकें। इसी कड़ी में नरवाना-कुरुक्षेत्र रेलवे लाइन के विद्युतीकरण का कार्य टोहाना गेट पर हवन कर व नारियल फोड़कर किया।

डिप्टी चीफ इंजीनियर प्रदीप व चीफ आफिस अधीक्षक सुधीर हुड्डा ने संयुक्त बताया कि 4 जनवरी को ही इस रेलवे लाइन के टेंडर का अवार्ड हुआ था। अगले ही दिन विद्युतीकरण के लिए उद्घाटन के लिए यज्ञ कर कार्य आरंभ कर दिया। उन्होंने बताया कि नरवाना से कुरुक्षेत्र रेलवे लाइन के 86 किलोमीटर लंबी लाईन को 18 महीने तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। जिस पर लगभग 85 करोड़ रुपये की लागत आएगी। उन्होंने बताया कि इस लाइन के विद्युतीकरण होने से समय की बचत होगी और बिजली से चलने वाली रेल सस्ती पड़ती है। इसके अतिरिक्त प्रदूषण से छुटकारा मिलेगा और गति के साथ-साथ शक्ति भी बढ़ेगी। विद्युतीकरण होने से ईएमयू गाड़ियों की संख्या बढ़ेगी। रेलवे विद्युतीकरण का कार्य करने वाली कंपनी के इंजीनियर धनंजय नंदी ने बताया कि इस रेलवे लाईन को डेढ़ साल में पूरा करना है, लेकिन उनकी कोशिश रहेगी कि यह कार्य दिसंबर 2018 तक पूरा कर लिया जाए और यात्रियों को सौगात दी जा सके।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप